दिल्ली में 24 घंटे में 7,437 केस आए, इस साल एक दिन में सबसे ज्यादा

नई दिल्ली (एजेंसी)। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की कोरोना रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई है। उन्होंने सोशल मीडिया पर जानकारी शेयर करते हुए उन सभी लोगों से आइसोलेशन में जाने की अपील की है, जो पिछले कुछ दिनों में उनसे मिले हैं। विजयन ने लिखा है कि उनका इलाज कोझिकोड के सरकारी मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। उधर, दिल्ली में पिछले 24 घंटे के अंदर कोरोना के 7,437 केस सामने आए हैं। 42 लोगों की मौत हुई है। नए आंकड़े सामने आने के बाद दिल्ली में एक्टिव केस की संख्या 23,181 हो गई है। यहां अब तक 6,98,005 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। मुंबई में गुरुवार को कोरोना के 8,938 केस सामने आए हैं। 23 लोगों की मौत हुई है, वहीं 4,503 मरीज रिकवर भी हुए हैं। यहां अब तक कोरोना के 4,91,698 केस आ चुके हैं। इनमें से 3,92,514 मरीज रिकवर हो गए, जबकि 11,874 की मौत हो गई। यहां 86,279 एक्टिव केस हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामलों में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला है। इसके चलते राज्य सरकार ने राजधानी लखनऊ समेत 5 जिलों में गुरुवार से नाइट कफ्र्यू लागू करने का ऐलान कर दिया है। इसमें लखनऊ के अलावा प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर और नोएडा शामिल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हालात का जायजा लेने के लिए इन जिलों में औचक निरीक्षण करने की बात भी कही है।
इसके अलावा बरेली, गोरखपुरग् मेरठग् गौतम बुद्धनगर, झांसी, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर और मुरादाबाद में भी हालात खराब हो रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, अगले कुछ दिनों में इन जिलों में भी कई तरह की पाबंदियां लागू की जा
सकती हैं। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रूड़की में कोरोना मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी है। दूसरे दिन भी इंस्टीट्यूट के हॉस्टल में रहने वाले 29 स्टूडेंट्स कोरोना पॉजिटिव पाए गए। अब तक इंस्टीट्यूट के 89 स्टूडेंट्स संक्रमित हो चुके हैं। इंस्टीट्यूट एडमिनिस्ट्रेशन ने बिगड़ते हालात को देखते हुए संस्थान के कोटले भवन, कस्तूरबा भवन, विज्ञान कुंज, सरोजिनी भवन और गोविद भवन को कंटेनमेंट जोन बना दिया है। हॉस्टल में रहने वाले बाकी छात्रों की जांच भी हो रही है।
देशभर में कोरोना से हालात खराब होते जा रहे हैं। बुधवार को देश में रिकॉर्ड 1 लाख 26 हजार 265 लोग संक्रमित पाए गए। पिछले साल महामारी शुरू होने के बाद से अब तक ये पहली बार है जब एक दिन के अंदर इतने लोग संक्रमण की चपेट में आए हैं। इसके पहले 6 अप्रैल को एक दिन के अंदर 1.15 लाख लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके अलावा बुधवार को 684 मरीजों की मौत भी हो गई और 59 हजार 129 लोग रिकवर हुए। इसी के साथ कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब 1.29 करोड़ से अधिक हो गया है। इनमें 1.18 करोड़ लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 1.66 लाख मरीजों की मौत हो गई। 9 लाख 5 हजार मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज भी ले ली। एम्स नई दिल्ली में गुरुवार सुबह उन्होंने कोवैक्सिन की दूसरी डोज लगवाई। पहली डोज उन्होंने 1 मार्च को लगवाई थी। सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हुए उन्होंने अन्य लोगों से भी वैक्सीन लगवाने की अपील की। लिखा कि वैक्सीनेशन उन चंद तरीकों में से एक है जिसके जरिए कोरोना को हराया जा सकता है। इसलिए अगर आप वैक्सीन लगवाने की एलिजिबिलिटी पूरी करते हैं तो तुरंत लगवा लें। डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के सेक्रेटरी और देश के बड़े वैज्ञानिकों में शुमार प्रो. आशुतोष शर्मा ने कहा है कि कोरोना के इस फेज की रफ्तार पहले की अपेक्षा काफी अधिक है। मतलब इस फेज में ज्यादा तेजी से लोगों के बीच संक्रमण फैलेगा। इसे रोकने के लिए केवल बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन ही कारगर साबित होगी। देश की ज्यादातर आबादी के बीच वैक्सीनेशन के बाद संक्रमण का असर कम
होने लगेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *