देवर-भाभी को न्यायिक हिरासत में भेजा

श्रीगंगानगर, 8 जुलाई (का.सं.)। देवर के साथ अवैध सम्बंध के चलते अपने पति की हत्या करवाने में शामिल महिला और उसके आशिक देवर को रिमांड अवधि समाप्त होने पर न्यायिक हिरासत में भेज दिया। श्रीगंगानगर के नजदीक मटीलीराठान थाना क्षेत्र के गांव मिर्जेवाला में पिछले सप्ताह घटित इस सनसनीखेज हत्याकांड मेें रिमांड पर चल रही मकतूल जगदीश मेघवाल की पत्नी शकुंतला उर्फ शंतो और उसके देवर पालाराम को आज कोर्ट में पेश किया गया था। इस हत्याकांड में शामिल पालाराम के छोटे भाई श्रवणराम को विगत शनिवार अदालत में न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिये थे। पुलिस ने बताया कि रिमांड अवधि के दौरान जगदीश मेघवाल की लाश को ठिकाने लगाने में इस्तेमाल किये गये मोटरसाइकिल, गला घोंटने के लिए इस्तेमाल किये गये दुपट्टे और लाश को लपेटने के लिए इस्तेमाल की गई चद्दर आदि वस्तुओं को जब्त किया गया। देवर-भाभी से पूछताछ कर पूरे घटनाक्रम की कडियों को मिलाया गया। पुलिस के मुताबिक 14 वर्षीय पुत्री व 11 वर्षीय पुत्र की मां शकुंतला के काफी समय पूर्व अपने पति जगदीश के चचेरे भाई पालाराम से अवैध सम्बंध हो गये थे। जगदीश अत्यधिक शराब पीने का आदी था। इस वजह से शकुंतला पालाराम की तरफ आकर्षित हो गई। विगत 2 जुलाई की रात को अपने घर मेें शकुंतला ने पालाराम से मिलकर जगदीश की हत्या कर दी। फिर पालाराम ने अपने छोटे भाई श्रवण को शकुंतला के घर बुलाया। दोनों भाई चादर में लपेटकर जगदीश की लाश मोटरसाइकिल पर ले गये और गांव से तीन किमी दूर एक नहर में फेंक आये।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *