सरदारों पर जोक्स बर्दाश्त नहीं कर सकता दिलजीत

बेहद खामोश रहने वाले पंजाब के सुपरस्टार दिलजीत दोसांझ ने सरदारों पर जोक्स बनाने या दिखाने वालों के सख्त खिलाफ हैं, वह बेहद सख्ती से कहते हैं कि सरदार होना पहचान है और इस पहचान पर किसी भी तरह का कोई हमला वह कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।
पंजाब के सुपरस्टारदिलजीत दोसांझ इन दिनों मुंबई में अपनी अगली बॉलिवुड फिल्म अर्जुन पटियाला के प्रमोशन में जुटे हैं। बेहद संकोची और बहुत सोच-सोच कर सवालों के जवाब देने के लिए मशहूर दिलजीत ने हमसे हुई खास बातचीत में अपनी फिल्म के अलावा कई और मुद्दों पर भी बात की। दिलजीत ने इस बातचीत के दौरान कहा कि वह सरदारों को लेकर बनने वाले जोक्स के सख्त खिलाफ हैं।
अर्जुन पटियाला में फिल्म के अंदर फिल्म बन रही है
अर्जुन पटियाला एक ऐसी फिल्म है, जिसमें पिक्चर के अंदर पिक्चर बनाई जा रही है और फिल्म की मेकिंग के दौरान हम अपनी ही फिल्म का मजाक उड़ा रहे हैं।
कोई कितनी भी बड़ी कुर्सी में बैठा हो, मैं चापलूसी नहीं कर सकता
मेरे अंदर कई खामिया हैं, जैसे मैं बड़ा संकोची हूं, एकदम से किसी को दोस्त नहीं बना पाता हूं, लोगों से घुलने-मिलने में बहुत समय लेता हूं। अगर कोई व्यक्ति, जो मुझे पसंद नहीं है, उससे मेरी कभी नहीं बन सकती है, फिर चाहे वह कितनी भी बड़ी कुर्सी में बैठा हो या कहीं का भी हेड हो, मैं चापलूसी करके उससे बना नहीं पाऊंगा, अगर कोशिश भी की तो मेरे चेहरे से साफ पता चल जाएगा कि मैं चापलूसी कर रहा हूं। यही मेरी सबसे बड़ी कमियां हैं।
मां के अलावा कभी किसी पर विश्वास नहीं करता हूं
मैं कभी भी किसी भी व्यक्ति पर बिल्कुल भी विश्वास नहीं करता हूं, मुझे किसी पर विश्वास करने के लिए मुद्दतें लग सकती हैं। मुझे सिर्फ अपनी मां पर विश्वास है, मां के अलावा किसी और पर ट्रस्ट नहीं कर सकता हूं। मैंने कभी धोखा नहीं खाया है, शायद यही वजह है कि मैंने कभी किसी पर विश्वास ही नहीं किया है। धोखा तब खाओगे जब किसी पर भरोसा करोगे।
बॉलिवुड की पार्टियों में मुझे उलझन होती है
मैं बॉलिवुड की पार्टियों में नहीं जाता हूं, आज तक सिर्फ एक बार ही वरुण धवन और आलिया भट्ट की फिल्म बद्रीनाथ की दुल्हनिया की पार्टी में गया था। मैं जहां शूट कर रहा था, वरुण की पार्टी वहां से बेहद करीब थी। वरुण ने मुझे मेसेज किया था कि आ जाना इसलिए चला गया था, लेकिन जब मैं पार्टी में पहुंचा तो मुझे बहुत ज्यादा उलझन, घबराहट और शर्मिंदगी महसूस हुई कि क्या बताऊं।
पार्टियों में नकली मेल-मुलाकात का ढोंग मुझसे नहीं होता
अब ऐसी पार्टियों में जाओ तो सबसे मेल-मुलाकात करो, वह सब मुझे बहुत नकली लगता है। पार्टी बहुत अच्छी थी, लेकिन यह मेल-मुलाकात का तरीका बड़ा नकली लगता है मुझे। मैं उनकी पार्टी में फिट नहीं हो रहा था। तभी पार्टी में आलिया मुझसे मिलीं और कहने लगीं कि तुम पार्टी में कैसे आ गए, मैंने तो वरुण से शर्त लगाई थी कि तुम नहीं आओगे। उसके बाद ही तय कर लिया था कि किसी भी पार्टी में नहीं जाऊंगा।
सरदारों को लेकर बनने वाले जोक्स के सख्त खिलाफ हूं
मैं सरदारों पर बनने वाले मजाक के इतने खिलाफ हूं कि अगर किसी फिल्म, टीवी शो या कहीं भी कोई ऐसी लाइन, जिससे किसी भी सरदार की गरिमा कम होती हो, वह काम छोड़ देता हूं। मुझे लगता है कि किसी की पहचान पर कोई मजाक या चुटकुला नहीं बनना चाहिए। सरदारों की जो पहचान है, उस पहचान को बनाने में सदियां लगी हैं, बहुत से महान लोगों ने इसी पहचान को बनाए रखने के लिए अपना बलिदान तक दिया है। किसी को भी किसी की पहचान पर किसी भी तरह का कोई भी हमला और जोक्स नहीं बनना चाहिए।

चाहें तो मेरा मजाक उड़ा लें, लेकिन मेरी पहचान पर हमला बर्दाश्त नहीं करूंगा
आप चाहें तो मेरी दिलजीत दोसांझ के नाम पर कितना भी मजाक बनाएं, लेकिन दिलजीत का मजाक सिर्फ सरदार होने की वजह से न बनाएं। मेरे सामने तो कोई भी कतई किसी भी सरदार का मजाक नहीं बना सकता है। मैंने इस बात पर न जानें कितने काम नहीं किए, कई शो छोड़ दिए और कुछ फिल्मों में काम नहीं किया। अब बहुत हो गया, मेरे सामने तो कोई भी सरदारों से जुड़े मजाक की बात नहीं बोल सकता है। हालांकि मुझे इस बात पर भुगतान भी करना पड़ा है, लेकिन मैं पहचान पर मजाक के सख्त खिलाफ हूं।
सोशल मीडिया में होने वाली आलोचना की फिक्र नहीं करता
कुछ लोग आपसे हमेशा चिढ़े हुए रहते हैं, आप कुछ भी कर लो, उनको तो आपकी आलोचना करनी है तो करनी है। वह मौका ढूंढते हैं, कई बार आप कुछ लॉगऑन को पैम्पर नहीं कर पाते हो इसलिए वह लोग आपकी झूठी आलोचना करने लगते हैं। वैसे सोशल मीडिया में होने वाली आलोचना की फिक्र मैं बिल्कुल भी नहीं करता हूं। बाकी तो मुझे खुद पता है कि मैं कितने पानी में हूं। अर्जुन पटियाला में दिलजीत दोसांझ के अलावा कृति सेनन, वरुण शर्मा, रोनित रॉय, मोहम्मद जीशान अयूब और सीमा पहवा अहम भूमिकाओं में हैं। सनी लियोनी ने फिल्म में एक आइटम नंबर किया है। रोहित जुगराज ने फिल्म का निर्देशन किया है। भूषण कुमार और दिनेश विजन फिल्म के निर्माता हैं।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *