वापस बंद हो सकता है जयपुर-दिल्ली के बीच चलने वाली डबल डेकर और शताब्दी ट्रेनों का संचालन, 80 फीसदी खाली जा रही हैं ट्रेनें; जबकि यूपी-बिहार जाने वाली ट्रेनें फुल

रेलवे बोर्ड ट्रेनों में घटते यात्रीभार को देखते हुए जल्दी ही उन रूट पर ट्रेनों को बंद कर सकता है, जहां यात्रीभार (ऑक्यूपेंसी) 20 फीसदी से भी कम है। रेलवे एक बार फिर जयपुर-दिल्ली के बीच संचालित शताब्दी और डबल डेकर ट्रेन का संचालन बंद करने पर विचार कर रहा है। इसके पीछे कारण इन दोनों ही ट्रेनों में यात्रीभार दिनों-दिन कम होना है। शताब्दी ट्रेन पिछले दो-तीन दिन से 90 फीसदी सीटे खाली पड़ी हैं, ये ट्रेन अजमेर से चलती है जो जयपुर होते हुए दिल्ली जाती है। सूत्रों के मुताबिक मंगलवार को जयपुर से दिल्ली जाने वाली शताब्दी में सिर्फ 67 सीट ही बुक हुईं, जबकि 1025 सीट खाली रहीं। वहीं बुधवार को नई दिल्ली से जयपुर आने वाली शताब्दी में 136 सीट बुक हुईं है। इसी प्रकार आज शाम दिल्ली से जयपुर के चली चली डबल डेकर में 1560 में से सिर्फ 142 सीट ही बुक हुई। तो वहीं बुधवार को जयपुर से दिल्ली जाने में 1560 में से 1431 सीट खाली हैं, यानि सिर्फ 129 सीट ही बुक हुईं हैं। ऐसे में एक बार फिर इन ट्रेनों के संचालन पर बंद होने का संकट गहराने लगा है।

मुंबई जाने वाली ट्रेनों में भी ज्यादा भीड़ नहीं

इधर, मुंबई जाने वाली सभी ट्रेनों में 20 फीसदी से अधिक यात्रीभार नहीं है। वहीं यूपी, बंगाल, बिहार जाने वाली ट्रेनों में अभी भी लंबी वेटिंग है। हालांकि इन रूट्स पर ट्रेनों की संख्या अधिक नहीं होने की वजह से यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। गौरतलब है कि बीकानेर-कोलकाता, उदयपुर-न्यूजलपाईगुड़ी, मरुधर एक्सप्रेस, कामाख्या स्पेशल अन्य कुछ ट्रेनें जो यूपी, बिहार और बंगाल जाती हैं, उन ट्रेनों में पूरे साल यात्रीभार अधिक रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *