ईपीएफओ ने अपने सदस्यों को जारी किया अलर्ट, जानें क्या है ये

 

कानपुर। नए साल पर ईपीएफओ ने अपने 4.5 करोड़ सदस्यों के लिए अलर्ट जारी किया है। ईपीएफओ ने साफ किया है कि इस समय सदस्यों को गुमराह करने के लिए कई फर्जी बेवसाइटें चल रहीं हैं। इतना ही नहीं फोन के जरिए तमाम जानकारियां मांगी जा रही हैं, लेकिन ईपीएफओ ने ऐसी कोई भी जानकारी नहीं मांगी है। इसलिए भूलकर भी किसी और वेबसाइट पर क्लिक न करें अन्यथा हैकर आपका गोपनीय डेटा हैक कर सकते हैं। ईपीएफओ की एचटीटीएस// डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.ईपीएफइंडिया.जीओवी. इन अधिकृत वेबसाइट है। इसी से मिलती-जुलती आधा दर्जन फर्जी वेबसाइटें और चल रहीं हैं। इसके साथ ही ईपीएफओ ने नोटिस में यह भी कहा है कि ईपीएफओ का फर्जी प्रतिनिधि बनकर फोन से सदस्यों से व्यक्तिगत डेटा मांगे जा रहे है। इन फर्जी फोन से उन्हें बताया जा रहा कि विभाग ने इतनी धनराशि आपके बैंक खाते में डाल दी गई है, इसलिए इसके सत्यापन के लिए बैंक खाता, यूएएन, आधार नंबर और पीएफ खाते का नंबर भी पूछा जा रहा है, लेकिन ईपीएफओ की ओर से किसी भी सदस्य को जानकारी मांगने, साझा करने या देने के लिए फोन नहीं किया जाता है। विभाग ने इस तरह का कोई नियम ही नहीं बनाया है, फिर भी लोगों को भ्रमित कर ऐसा किया जा रहा है।

सावधान
– फोन पर पीएफ खाते, यूएएन आधार नंबर जैसी कोई जानकारी साझा न करें
– ईपीएफओ की तरफ से कभी भी फोन पर कोई जानकारी नहीं मांगी जाती है
– ईपीएफओ का फर्जी प्रतिनिधि बनकर फोन से सदस्यों से व्यक्तिगत डाटा मांगे जा रहे

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *