Amazon पर यूरोपीय यूनियन ने लगाया 888 मिलियन डॉलर का जुर्माना, जानें क्या है वजह

नई दिल्ली । अमेजन पर यूरोपीय यूनियन ने अबतक का सबसे बड़ा जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना डाटा प्राइवेसी नियमों के उल्लंघन के आरोप में लगाया है। हालांकि अमेजन ने नियमों के उल्लंघन से किया है। आइए समझते हैं कि क्या है पूरा मामला और अमेजन की अब क्या योजना है। लक्सम्बर्ग डाटा प्रोटेक्शन अथॉरिटी की तरफ से अमेजन पर 746 मिलियन यानी 888 मिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना यूरोपीय जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन के उल्लंघन पर लगाया गया है। यह जांच 2018 में एक फ्रांसिसी राइट ग्रुप की शिकायत के बाद शुरू किया गया था। उन्होंने अमजेन पर लगाए जुर्माने वाले फैसले का स्वागत किया है। अमेजन ने अपनी सफाई में क्या कहा-अमेजन ने अपनी सफाई में कहा, किसी भी तरह के नियमों का उल्लंघन नहीं किया गया है। ना हीं किसी भी प्रकार का कस्टमर डेटा किसी थर्ड पार्टी को दिया गया है। उन्होंने कहा,ताजा फैसले का कोई आधार नहीं है। हम ष्टहृष्ठक्क की रुलिंग से सहमत नहीं हैं।अमेजन पर लगाया गया यह फैसला 16 जुलाई को आया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आने वाले समय में अमेजन इस फैसले की चुनौती देगा। आपको बता दें यूरोपीय यूनियन जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन के अनुसार कोई भी कंपनी लोगों के व्यक्तिगत डेटा का उपयोग बिना अनुमति के नहीं कर सकती है। अगर वह बिना अनुमति के डेटा का उपयोग कंपनियां करती हैं तो उनपर भारी जुर्माना लगाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *