एक्जाल्टा ने की बीएसडीयू के साथ साझेदारी

 

जयपुर, 13 सितंबर(एजेन्सी)। एक्जाल्टा, विश्व में लिक्विड और पाउडर कोटिंग्स के अग्रणी आपूर्तिकर्ता, ने जयपुर स्थित भारत स्किल डेवलपमेन्ट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू)के साथ 5 वर्षीय भागीदारी की घोषणा की है। इस साझेदारी के अंतर्गत भारत के युवाओं को ऑटोमोटिव उद्योग और बॉडी शॉप्स में कॅरियर बनाने के लिये प्रायोगिक और कौशल आधारित प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह भागीदारी 200 से अधिक विद्यार्थियों को बैचलर ऑफ वोकेशन के लिये 6 महीने, एक वर्ष या 3 वर्ष के प्रमाणित कार्यक्रमों से प्रशिक्षित करेगी। एक्ज़ाल्टा पाठ्यक्रम तैयार करने में मदद करेगा और बीएसडीयू के प्रशिक्षकों तथा चयनित विद्यार्थियों को कोटिंग्स का गहन प्रशिक्षण प्रदान करेगा। लोकेन्दर पाल सिंह, रिफिनिश डायरेक्टर साउथ एशिया, एक्ज़ाल्टा कोटिंग सिस्टम्स ने कहा कि भारत के ऑटोमोटिव सेक्टर की दीर्घकालिक वृद्धि के लिये कुशल कर्मचारियों की मजबूत श्रृंखला अनिवार्य है। सरकार और उद्योग ने बीडीएसयू जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से इस मामले पर ठोस प्रयास किये हैं। बीडीएसयू के साथ भागीदारी कर एक्ज़ाल्टा भारत के युवाओं को सहयोग देते हुए समाधान का हिस्सा बनकर गर्व महसूस कर रही है। हमें उम्मीद है कि एक दिन यही युवा भारत में ऑटोमोटिव उद्योग की वृद्धि का नेतृत्व करेंगे। बीएसडीयू भारत में अपने प्रकार की पहली परियोजना है और जोशी फाउंडेशन स्विट्जरलैण्ड की पहल है, जिसकी संस्थापना डॉ राजेन्द्र जोशी और उनकी पत्नी श्रीमती उर्सुला जोशी ने की है। डॉ जोशी ने प्रशिक्षण के स्विस ड्यूअल सिस्टम के आधार पर कौशल विकास के लिये यह परियोजना शुरू की थी। ड्यूअल लर्निंग में वोकेशनल स्कूल ट्रेनिंग और प्रायोगिक ऑन-द-जॉब ट्रेनिंग होती है। इस पहल के अंतर्गत स्कूल ऑफ ऑटोमोटिव स्किल्स वर्ष 2017 में बना, जिसका मिशन था पेट्रोल और डीजल दोनों से चलने वाले चौपहिया वाहनों, ट्रैक्टर और कृषि यंत्रों पर केन्द्रित होकर ऑटोमोबाइल्स में ज्ञान, तकनीकी कुशलता और प्रायोगिक प्रशिक्षण देना। बीएसडीयू के कुलपति ब्रिगेडियर डॉ सुरजीत सिंह पाबला ने कहा कि हम एक्ज़ाल्टा के साथ जुड़कर अत्यंत प्रसन्न और अभिभूत हैं। एक्ज़ाल्टा जैसी कंपनियों का भारत, हमारे युवाओं और कुशलता की कमी को दूर करने के लिये प्रतिबद्धता दिखाना उत्साहवद्र्धक है। कार्यबल की अगली पीढ़ी विकसित करना अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि हम भारत में एक मजबूत और समृद्ध ऑटोमोटिव उद्योग का निर्माण और वृद्धि चाहते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *