सर्दियों में सेहतमंद त्वचा के लिए अपनाएं ये 8 आसान टिप्स

इस मौसम में त्वचा के साथ लापरवाही ठीक नहीं

इन दिनों शुष्क हवा सबसे पहले त्वचा की नमी को नष्ट करती है। इससे त्वचा में खिंचाव और रूखापन पैदा हो जाता है। इसका असर आपके चेहरे पर ही नहीं, शरीर के अन्य हिस्सों पर भी होता है। इस मौसम में इस बात का खास ध्यान रखें कि आप अपनी त्वचा के प्रति लापरवाह न हो जाएं। सर्दियों में भी त्वचा को सेहतमंद बनाने के लिए क्लीनिंग आदि जरूरी है। कैसे करें सर्दियों में त्वचा की सेहत की देखभाल, क्या-क्या बरतें सावधानी, बता रही हैं नीलम शुक्ला
त्वचा की आम समस्या –वीएलसीसी (इंडिया एंड ओवरसीज) के डर्मेटोलॉजिस्ट व लेजर हेड ट्रांसप्लांट एंड मेडिकल सर्विसेज विभाग के प्रमुख डॉ. र्दंतदरजीर्त ंसह तुल्ला कहते हैं कि आज के तनाव भरे वातावरण में चमकता चेहरा पाना थोड़ा मुश्किल सा लगता है। सर्दियों में त्वचा का रूखा होना और फिर उस रूखी त्वचा में खुजली होना बहुत आम समस्या है। शुष्क हवा अकसर त्वचा की नमी सोख लेती है, जिस कारण त्वचा का फटना और जलन जैसी समस्याएं होने लगती हैं। सर्दियों में स्र्केंलग, त्वचा पर पपड़ी बनकर निकलना और खुजली जैसी समस्याओं से बचने के लिए अपनी त्वचा का विशेष ध्यान रखें। माइल्ड साबुन और मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल कर आप शुष्कता से काफी हद तक दूर रह सकते हैं। जिन लोगों की त्वचा बेहद संवेदनशील होती है, उन्हें ऐसा मॉइस्चराइजर इस्तेमाल करना चाहिए, जिसमें खुशबू ना हो।
बचें सूर्य की किरणों से-इस मौसम में धूप बड़ी अच्छी लगती है। पर याद रहे, इस मौसम में भी त्वचा के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणें ही हैं। इससे बचने के लिए धूप में ज्यादा देर न बैठें। वैसे भी त्वचा की दृष्टि से सनर्बांथग करना गलत है। कैंसर के खतरे के साथ ही ये अल्ट्रावायलेट किरणें आपकी त्वचा की कोशिकाओं और रुधिर वाहिनियों को कमजोर बनाती हैं। जहां तक विटामिन डी की पूर्ति के लिए धूप सेंकने की बात है तो यह काम सुबह के समय ही करें। सुबह की धूप सेंकने के बाद धूप में जब भी जाएं, सनस्क्रीन लोशन या क्रीम लगाकर जाएं। ध्यान रखें कि इसके लिए मॉइस्चराइजर एसपीएफ 30 वाला ही हो।
गुनगुने पानी से नहाएं-सर्दियों में गर्म पानी का इस्तेमाल करने से त्वचा रूखी हो जाती है। इससे बचने के लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें, जिससे त्वचा से आवश्यक प्राकृतिक तेल न निकले। सर्दियों में साबुन का प्रयोग कम से कम करें। त्वचा अगर रूखी है तो स्क्रब करना भी बंद कर दें, क्योंकि इससे त्वचा पर मौजूद पोर तो खुल जाएंगे, लेकिन त्वचा और भी रूखी हो जाएगी। स्क्रब तभी करें, जब त्वचा तैलीय हो, ताकि इससे त्वचा का तेल कम हो सके।
मॉइस्चराइज – नहाने या चेहरे को धोने के तुरंत बाद मॉइस्चराइजर का उपयोग करें। इससे त्वचा रूखी नहीं होगी। दिन के समर्य ंजक ऑक्साइड मॉइस्चराइजर लगाएं, जो एसपीएफ 30 हो। साथ ही रात के लिए विटामिन ए और दिन के लिए विटामिन सी और ई युक्त मॉइस्चराइजर वाली क्रीम फायदेमंद होती है। वॉटर बेस क्रीम और मॉइस्चराइजर लगाएं। प्राकृतिक मॉइस्चराइजर का उपयोग करें, जो आपकी त्वचा को रूखी होने से बचाने के साथ-साथ इसे जरूरी आवश्यक तत्व भी देते हैं। ग्लिसरीन और गुलाब जल मिलाकर चेहरे, नाक और होठों की मसाज करने से फायदा होता है। इसका प्रयोग रात में सोने से पहले कुहनी, एडिय़ों, हाथों तथा तलवों पर करें। इससे आपकी त्वचा स्वस्थ रहेगी और उसमें नमी भी बनी रहेगी, जो उसे त्वचा से संबंधित बीमारियों से दूर रखेगी।
त्वचा के लिए खाएं-  इस मौसम में आपके खाने की क्वॉलिटी भी आपकी त्वचा की क्वॉलिटी पर निर्भर करती है। इस मौसम में फ्राइड और मीठी चीजें खाना अच्छा लगता है, लेकिन अगर आप फिट रहना चाहते हैं तो रोस्टेड चीजें ज्यादा खाएं। फिश, सूप और ड्राई फ्रूट्स लें। मौसमी सब्जियां, टमाटर, पालक, लहसुन, संतरा और पपीता सेहत के साथ त्वचा के लिए भी लाभकारी होते हैं। टमाटर में केरोटीन तत्व होता है, जो रक्त को साफ करता है, वहीं पालक कैल्शियम देने के साथ हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है। ग्रीन टी, लेमन जूस और शहद अच्छा विकल्प हंै। रोजमर्रा के डेयरी प्रोडक्ट्स पर ज्यादा ध्यान दें। साथ ही अंजीर, किशमिश, ड्राई फ्रूट्स और पर्याप्त मात्रा में हरी सब्जियों को शामिल करें।
खूब सारा पानी पिएं-सर्दियों में पसीना नहीं आता है तथा हवा में भी मॉइस्चर होता है, जिस कारण प्यास कम लगती है। ठंड होने के कारण हम सब गर्म चाय, कॉफी या फिर कोई और गर्र्म ड्रक लेना पसंद करते हैं। लेकिन ऐसा करने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिससे त्वचा में ड्राईनेस आ जाती है। पानी शरीर के साथ-साथ चेहरे की त्वचा को भी हाइड्रेट रखता है। पानी पीने से शरीर और त्वचा से हानिकारक टॉक्सिन और तेल पसीने के साथ बाहर निकल जाता है और आपकी त्वचा स्वस्थ रहती है। दिन भर में कम से कम 10 गिलास पानी पिएं। हल्के गर्म पानी में नीबू की कुछ बूंदें डालकर लेने से भी शरीर में डीहाइड्रेशन की समस्या नहीं होती।
गर्म तेल की मसाज –सर्दियों में त्वचा की देखभाल करने का आदर्श तरीका है शरीर को गर्म तेल की मसाज देना। सर्दियों में त्वचा को मॉइस्चराइज रखने के लिए मसाज लें। आप खुशबूदार माहौल और कैंडल्स के साथ आयुर्वेदिक तेल, तिल के तेल, बादाम के तेल या सरसों के तेल से मसाज के जरिए तनाव भगा सकते हैं। इस मौसम में हर दो-तीन दिन में चेहरे की मसाज जरूरी है, ताकि मांसपेशियों में रक्त संचार ठीक रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *