89 साल के इतिहास में पहली बार न्यूट्रल वेन्यू पर खेलेगा भारत

नई दिल्ली (एजेंसी)। न्यूजीलैंड के खिलाफ साउथेम्प्टन में होने वाला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फाइनल भारत के टेस्ट क्रिकेट के 89 साल के इतिहास में तटस्थ स्थान पर उनका पहला टेस्ट होगा। टेस्ट दर्जा रखने वाले देशों में भारत और बांग्लादेश ही ऐसी टीमे हैं जिन्होंने तटस्थ स्थान पर टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला है।
पिछले एक दशक में, अधिकांश अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीमों ने पाकिस्तान के खिलाफ तटस्थ स्थान पर सीरीज खेली है क्योंकि पाकिस्तान में क्रिकेट का आयोजन नहीं हो रहा था। पाकिस्तान के साथ सीरीज ज्यादातर संयुक्त अरब अमीरात में हुई थी। 2009 की शुरूआत में जब श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर बंदूकधारियों ने हमला किया था, तब से 10 साल तक कोई भी देश पाकिस्तान नहीं गया। चूंकि भारत ने 2007-08 की घरेलू सीरीज के बाद पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच नहीं खेला है, इसलिए उन्हें तटस्थ स्थान पर कोई मैच खेलने का मौका नहीं मिला है।  भारत को 1999-00 में एशियाई टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान तटस्थ स्थान पर खेलने का मौका मिला था। फाइनल ढाका में खेला गया था लेकिन भारत उस तक पहुंचने में असफल रहा और पाकिस्तान तथा श्रीलंका ढाका में खिताबी भिड़ंत में शामिल थे।  साउथेम्प्टन में डब्ल्यूटीसी फाइनल हालांकि स्सम्भवत: 4,000 की भीड़ के सामने खेला जाएगा और इसमें बहुत सारे भारतीय प्रशंसक हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *