फुलर्टन इंडिया ने पशु विकास डे के चौथे संस्करण में पशुओं का उपचार किया

मुंबई , 26 दिसम्बर (एजेन्सी)। भारत की जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा अपनी आजीविका के लिए पशुधन पर निर्भर है। भारत के एक प्रमुख एनबीएफसी . फुलर्टन इंडिया के पशु विकास डे 2019 ने जमीनी स्तर पर पशुओं को लेकर जागरूकता पैदा करने और ग्रामीण समुदाय को चिकित्सा सहायता प्रदान करने हेतु कार्यक्रम चलाया। पशु विकास डे के इस संस्करण में 14 राज्यों के 500 गांवों से जुड़ी 350 से अधिक जगहों पर एक साथ पशु शिविर आयोजित किये गये। इन शिविरों में 68000 पशुओं का उपचार किया गयाए जिससे 21000 से अधिक पशुपालक लाभान्वित हुए। पशु विकास डे के आरंभ के बाद चार वर्षों मेंए लगभग 200000 पशुओं और 50000 से अधिक पशुपालकों इस प्रोजेक्ट का लाभ मिल चुका है। संगठन की अनूठी पहल को रेखांकित करते हुएए फुलर्टन इंडिया की मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशकए सुश्री राजश्री नाम्बियार ने कहाए ष्ष्हम अपने बिजनेस के जरिए सेवावंचितों की आर्थिक आवश्यकताएं पूरी करते हैं और उनकी समस्याओं से निपटने में सहायता प्रदान करते हैं। इसलिएए हमारा विकास कार्यक्रम ग्रामीण समुदायों की आजीविका के साधनों को बेहतर बेहतर बनाने पर जोर देता है . ताकि उनके रहन.सहन का स्तर उच्चतर हो सके और उनकी आमदनी बढ़ सके। देश के भीतरी क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए पशुधन महत्वपूर्ण है और पशु दिवस डे को इसी उद्देश्य से शुरू किया गया था ताकि बेहतर जागरूकता और देखभाल के जरिए टिकाऊ विकास हासिल किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *