महिलाओं और उनकी साडिय़ों के लिए और अधिक सम्मान मेरे दिल में है आयुषमान

प्रतिरूपण समाज में एक सदियों पुरानी प्रथा है लेकिन जब इस प्रथा के बारे में खुलकर बात की जाती है तो क्या होता है? राज शांडिल्य का ड्रीम गर्ल दोस्ती कॉल सेंटरों पर एक स्वच्छ, प्रफुल्लित करने वाला और एकतरफा कदम है। करमवीर सिंह उर्फ पूजा के रूप् में आयुषमान खुराना हैं, जो एक प्रतिरूपणकर्ता की भूमिका निभाते हैं। शनिवार 21 दिसंबर को रात 9 बजे ज़ी सिनेमा पर ड्रीमगर्ल के वल्र्ड टेलीविजऩ प्रीमियर के अवसर पर, आयुषमान के साथ एक मुलाकात:
1. पूजा की आवाज में बोलना आपकेलिए कितना आसान या कठिन था?
एक महिला की आवाज में मुझे 25 प्रतिशत संवाद कहने थे। चूंकि मैंने रेडियो के साथ काम किया है, इसलिए मेरे लिए ये आसान हो गया। मैंने विभिन्न लोगों की नकल करते माइक के पीछे वर्षों बिताए हैं। राज ने मुझे कुछ पुरुषों के संदर्भ दिए थे, जो एक महिला की आवाज में बोलकर लोगों को प्रभावित करते हैं। मैंने उन वीडियो का अध्ययन किया। सबसे बड़ी चुनौती सही नोट को क्रैक करना था क्योंकि मुझे न केवल एक महिला की तरह आवाज़ देनी थी, बल्कि स्थानीय लहजे में हरियाणवी और हिंदी के स्पर्श को भी जोडऩा था। एक लड़के के रूप् में, मेरे पास एक प्राकृतिक गहरी बैरिटोन आवाज है, जिससे कि एक महिला के रूप में ध्वनि को व्यक्त करना कठिन हो जाता है। इसलिए आवाजों के बीच संक्रमण करना चुनौतीपूर्ण था। मैं स्वाभाविक रूप् से विभिन्न पात्रों के लिए तैयार हूं, इसलिए यह एक साहसिक कार्य था।
2. यह आपका पहला अनुभव था जहाँ आपने एक साड़ी पहनी थी। क्या यह कठिन था?
बहुत ही मुश्किल था। तीन लोगों ने मुझे साड़ी पहनने में मदद की। लेकिन बहुत मजा आया। महिलाओं और उनकी साड़यिों के लिए अब और भी अधिक सम्मान मेरे दिल में है। उन्हें सलाम। वास्तव में।
3. आपने हमेशा बहुत ऑफबीट भूमिकाएँ निभाई हैं। नए जमाने के अभिनेता होना कैसा लगता है?
ब्हुत अच्छा लगता है! हमें वही करने मिलता है जो हम करना चाहते हैं। हम अपने दिल की सुन सकते हैं। हमें व्यावसायिक सिनेमा के नियमों पर टिक करने की जरूरत नहीं है। मुझे लगता है कि ऐसा कुछ भी है जो ऑफ.सेंटर, प्रासंगिक और सामयिक है, उसे स्वीकार किया जाता है, केवल अगर वह मनोरंजक हो। आप इन चीजों को मिलाकर कुछ ऐसा बनाए जो दर्शकों को पसंद आए। मैं बॉलीवुड की फिल्में देखकर बड़ा हुआ हूं, और वैसी भी फ़ल्मिों में मुझे काम करना है। मुझे लगता है कि हर युग अलग है और इसलिए अलग तरह से व्यवहार किया जाना चाहिए।
4. क्या कोई ऐसा समय आया है जब किसी ने आपको अपने करियर के बारे में सलाह दी हो?
आदिसर ने एक बार मुझसे कहा था ऐसी फिल्मों के लिए काम करो जहाँ दर्शकों को अभिनेता से कुछ उम्मीद है। दर्शकों को मेरी फिल्मों में गुणवत्ता की उम्मीद करनी चाहिए। मैंने ये करना शुरू किया और अपनी फिल्मों से मिलने वाली प्रतिक्रिया के साथ मुझे इसका लाभ मिल रहा है।
5. ड्रीमगर्ल के ज़ी सिनेमा पर वल्र्ड टेलीविजन प्रीमियर के लिए तैयार है, आप दर्शकों को क्या कहेंगे?
यह मेरी सबसे मसाला फिल्म है। मुझे लगता है, अब तक, मेरी फिल्में समीक्षकों द्वारा प्रशंसित और एक व्यावसायिक हिट के बीच में थी, मैंने पहली बार एक व्यावसायिक मसाला फिल्म की है। आर्टिकल 15 जैसी फिल्म बिल्कुल अलग थी। इसलिए, ड्रीमगर्ल के साथ दर्शकों को एक अच्छी हंसी वाली फि़ल्म दे रहा हूं।

प्रतिरूपण समाज में एक सदियों पुरानी प्रथा है लेकिन जब इस प्रथा के बारे में खुलकर बात की जाती है तो क्या होता है? राज शांडिल्य का ड्रीम गर्ल दोस्ती कॉल सेंटरों पर एक स्वच्छ, प्रफुल्लित करने वाला और एकतरफा कदम है। करमवीर सिंह उर्फ पूजा के रूप् में आयुषमान खुराना हैं, जो एक प्रतिरूपणकर्ता की भूमिका निभाते हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *