गंगाराम हत्याकांड में आरोपी की पहचान, काबू करने मप्र पहुंची पुलिस टीम

श्रीगंगानगर, 17 जून (का.सं.)। लालगढ़ जाटान थाना क्षेत्र में बुधरवाली गांव में रेलवे अंडर पास में 20 दिन पूर्व एक अधेड़ गंगाराम बावरी (48) की हत्या कर लाश फेंक दिए जाने के मामले में पुलिस ने आरोपित व्यक्ति की पहचान कर ली है। इस व्यक्ति के मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में कहीं छिपे होने की सूचना मिलने पर एक पुलिस टीम 2 दिन से डेरा डाले हुए हैं। आरोपित की लोकेशन को ट्रेस करने में मध्य प्रदेश पुलिस की भी मदद ली जा रही है। पुलिस के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि गंगाराम बावरी की हत्या करने का संदेह मकतूल के पैतृक गांव तख्त हजारा बावरिया के एक व्यक्ति पर है। यह व्यक्ति उसी दिन से गायब है, जिस दिन गंगाराम की गला घोंटकर बुधरवाली रेलवे अंडरपास में फैंकी की लाश बरामद हुई थी। आरोपित का नाम जोगिंदर सिंह बताया जा रहा है जोकि ट्रैक्टर ट्रॉली चलाने का काम करता है। विगत 27 मई की सुबह लालगढ़ जाटान सादुलशहर मार्ग पर बुधरवाली गांव में रेलवे अंडरपास में गंगाराम की लाश बरामद हुई थी। गंगाराम परिवार सहित कुछ समय से सादुलशहर के वार्ड नंबर 1 में रह रहा था। वह 26 मई की रात को गायब हो गया। उस रात को वह खाना खाकर घर के बाहर चबूतरे पर सोने चला गया। सुबह घर वालों को वह नहीं मिला। बाद में उसकी लाश मिलने पर पुत्र शमशेर द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर लालगढ़ जाटान थाना में हत्या का मामला दर्ज किया गया। पुलिस के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार मृतक के परिवारजनों ने दर्ज करवाए मुकदमे में महेंद्रसिंह और कालासिंह नामक व्यक्तियों पर हत्या किए जाने का शक जाहिर किया। जांच में इनकी कोई संदिग्ध भूमिका नहीं पाई गई मगर तख्तहजारा बावरिया का जोगेंद्रसिंह संदेह के घेरे में आ गया। वह 27 मई से ही लापता है। ट्रैक्टर ट्रॉली गांव में छोड़कर गायब हुए जोगेंद्र सिंह के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल एवं लोकेशन को चेक करना शुरू किया तो मध्यप्रदेश में प्रदर्शित हुई। पुलिस सूत्रों के अनुसार जोगिंदरसिंह पूर्व में भी मध्यप्रदेश के मंदसौर इलाके में रह चुका है। इसी इलाके में उसकी लोकेशन तीन-चार दिन से ट्रेस हो रही है। इस पर एक सब इंस्पेक्टर की अगुवाई में मंदसौर जिले में पहुंची। पुलिस टीम स्थानीय पुलिस की मदद से जोगिंदरसिंह को दबोच ने का प्रयास कर रही है। शीघ्र ही सफलता मिलने की उम्मीद भी पुलिस के अधिकारी व्यक्त कर रहे हैं।अवैध संबंधों का मामला गंगाराम बावरी की हत्या के पीछे अवैध संबंधों का मामला उजागर हो रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार गंगाराम का वार्ड नंबर 1 में एक महिला के यहां काफी आना-जाना था। इस महिला के घर के नजदीक एक अन्य महिला के घर में जोगिंदर सिंह का आना जाना था। सूत्रों ने बताया कि बाद में जोगिंदरसिंह कुछ दिनों से उस महिला पर नजर रखने लगा, जिसके यहां गंगाराम का आना जाना था। इस पर गंगाराम और जोगिंदरसिंह अंदर ही अंदर एक दूसरे के प्रति रंजिश रखने लगे। जोगिंदरसिंह ने राह में रोड़ा बन रहे गंगाराम को रास्ते से हटाने के लिए 26 मई की रात को वह किसी बहाने से एक खेत में ले गया। वहां शराब पिलाने के बाद कथित रूप से गला घोंट कर हत्या कर दी। लाश को ट्रैक्टर ट्रॉली में डालकर बुधरवाली के समीप रेलवे अंडरपास में फेंक कर गायब हो गया। पुलिस के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि जोगिंदरसिंह के पकड़ में आने पर हत्याकांड के सही और वास्तविक कारणों का खुलासा हो पाएगा। अभी तक कारण अवैध संबंध ही सामने आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *