घर बेचते हैं तो आपको चुकाना पड़ सकता है कैपिटल गेन टैक्स

नई दिल्ली। जब आप घर बेचते हैं तो आपको पूंजीगत लाभ कर चुकाना पड़ सकता है। आप में से बहुत से इस बात से अवगत होंगे कि नई प्रॉपर्टी में निवेश या पूंजीगत लाभ बांड खरीद कर इस कर से बचा जा सकता है लेकिन क्या आपको यह पता है कि आप अपने घर को संवारकर (रेनोवेट) भी इस टैक्स देने से बच सकते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे इस सुविधा का लाभ आप उठा सकते हैं। होस्टबुक्स लिमिटेड के संस्थापक और अध्यक्ष कपिल राणा ने कहा, किसी घर को रेनोवेट कराने में आना वाला खर्च पूंजीगत व्यय होता है। इसके चलते पूंजीगत लाभ की राशि की गणना करते समय गृह संपत्ति के सुधार पर खर्च घटाया जा सकता है। वहीं, टैक्सबड्डी डॉट कॉम के संस्थापक सुजीत बांगर ने कहा कि पूंजीगत लाभ आय को कम करने के लिए किसी संपत्ति की बिक्री आय के खिलाफ घर को रेनोवेट कराने में हुए खर्च की एवज में दावा किया जा सकता है। इसे सुधार की लागत कहा जाता है और इसे संपत्ति के अधिग्रहण की लागत के साथ जोड़ा जा सकता है। अगर आप प्रॉपर्टी को खरीदने के तीन साल के अंदर बेच देते हैं तो इससे होने वाले लाभ को शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन माना जाएगा। इस रकम को आपकी कुल इनकम में जोड़ा जाएगा और उसके बाद आपके टैक्स स्लैब के हिसाब से इस पर टैक्स वसूला जाएगा। इसका मतलब यह है कि जो लोग साल में 10 लाख रुपये से अधिक कमाते हैं, उन्हें ऐसे लेनदेन पर मुनाफे का 30 फीसदी टैक्स चुकाना पड़ेगा। वहीं, आप प्रॉपर्टी को तीन साल के बाद बेचते हैं तो प्रॉफिट को लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन माना जाएगा और इंडेक्सेशन के बाद इस पर 20 फीसदी के हिसाब से टैक्स लगेगा। इंडेक्सेशन में होल्डिंग पीरियड के दौरान महंगाई दर के असर को शामिल किया जाता है और उस हिसाब से घर खरीदने की कीमत में समाहित होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *