6225 नए कोरोना संक्रमण केस, 129 की मौत

राजस्थान में धीमी पड़ी कोरोना का संक्रमण की रफ्तार
ब्लैक फंगस के बढ़ते केसों ने बढ़ाई सरकार की चिंता

जयपुर (कासं.)। प्रदेश में जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होती जा रही है, वैसे-वैसे म्यूको माइकोसिस यानी ब्लैक फंगस के केसों में तेजी आ रही है। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने आज देर शाम एक बयान देकर बताया कि राज्य में अब तक इस बीमारी के लगभग 700 केस चिह्नित हुए है। इस बीमारी की घातकता और बढ़ते केसों को देखते हुए सरकार ने डोर टू डोर सर्वे में इस बीमारी के लक्षण वाले मरीजों को भी चिह्नित कर प्रशासन को सूचित करने के निर्देश दिए है।
राजस्थान में कोरोना केसों की बात करें तो प्रदेश में 35 दिन के अंतराल के बाद 7 हजार से कम केस मिले। शुक्रवार को पूरे राज्य में 6225 केस मिले, जबकि 129 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई। वहीं 18,264 मरीज रिकवर हुए है। वहीं राजस्थान में छत्तीसगढ़ के बाद देश का 10वां ऐसा राज्य बन गया जहां इस पूरे संक्रमितों की संख्या 9 लाख के पार हो गई। मरीजों की बढ़ती रिकवरी का नतीजा है कि प्रदेश में अब हर बड़े अस्पतालों में लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट के बैड्स आसानी से िमलने शुरू हो गए। वहीं सवाईमानसिंह अस्पताल में अस्पताल में तो क्रिटिकल मरीजों की संख्या में भी अब कमी आने लगी है। यहां 136 आईसीयू बैड्स में से 10 फीसदी तो खाली हो पड़े है। हालांकि सबसे बड़े डेडिकेटेड कोविड अस्पताल आरयूएचएस में अभी क्रिटिकल मरीजों के लिए आईसीयू, वेंटिलेटर उपलब्ध नहीं है। शुक्रवार सबसे ज्यादा 1251 मरीज जयपुर में मिले है, जबकि 28 मरीजों की इस बीमारी से मौत हुई है। वहीं जयपुर में आज 2897 मरीज रिकवर हुए है। जयपुर में मरीजों की संख्या में कमी का नतीजा है कि अब ऑक्सीजन, बैड्स के लिए मारामारी लगभग खत्म हो गई। एक्टिव केसों की संख्या में भी यहां पिछले 10 दिन में 50 हजार से घटकर 28,689 पर पहुंच गई। राज्य में आज मरीजों की संख्या में कमी आई है। प्रदेश के 33 में 14 जिले ऐसे है, जहां 100 से कम संख्या में मरीज मिले है। सबसे कम 12 मरीज जालौर जिले में मिले है। जालौर के अलावा सीकर, सिरोही, राजसमंद, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, करौली, झालावाड़, धौलपुर, दौसा, बूंदी, चित्तौडग़ढ ़और बारां जिले में भी 100 से कम केस मिले है। मुख्यमंत्री के गृह जिला जोधपुर में रिकवरी तेजी से हो रही है। यहां 10 दिन पहले तक 24,400 से ज्यादा एक्टिव केस थे, जो अब कम होकर 9231 पर पहुंच गए। वहीं में रिकवरी रेट में भी धीरे-धीरे बढ़ोतरी हो रही है। आज राज्य में रिकवरी रेट 85 फीसदी के नजदीक पहुंच गई। सबसे अच्छी रिकवरी रेट जालौर में 94 फीसदी, जबकि सबसे कम 63 फीसदी जैसलमेर की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *