औद्योगिक निवेश देश में सबसे आसान : उद्योग मंत्री

 

औद्योगिक विकास और रोजगार सृजन हमारी प्राथमिकता

जयपुर, 11 अक्टूबर (का.सं.)। उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा है कि उद्योग लगाने की प्रक्रिया को समूचे देश में सबसे आसान बनाने और जिला स्तर तक अधिकारों के विकेन्द्रीकरण से प्रदेश में औद्योगिक विकास का बेहतर माहौल बना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में तेजी से औद्योगिक विकास और अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजन हमारी प्राथमिकता है। उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री मीणा शुक्रवार को उद्योग भवन में अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल, एमडी रीको आशुतोष पेडऩेकर, आयुक्त उद्योग मुक्तानंद अग्रवाल व संबंधित वरिष्ठ अधिकारियोंं के साथ उच्च स्तरीय बैठक ले रहे थे। बैठक में उन्होंने कहा कि अधिकारों का विकेन्द्रीकरण करते हुए छोटे व मध्यम श्रेणी के उद्यमों के भुगतान प्रकरणों के त्वरित निस्तारण के लिए अब एक के स्थान पर चार एमएसएमई परिषदों ने काम शुरु करते हुए पिछले दिनों ही 61 विवादों की सुनवाई कर 20 विवादों का निस्तारण कर दिया है। उन्होंने बताया कि सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों से प्राप्त सामान का 45 दिनों में भुगतान नहीं होने की स्थिति में सुविधा परिषद के माध्यम से राहत प्राप्त करने की व्यवस्था है। इसी तरह से विद्यमान और नए उद्यमों से संबंंधित आपसी विवादों व शिकायतों के जिला स्तर पर ही निवारण के लिए डीआरएम व्यवस्था लागू करने से स्थानीय स्तर के विवादों का वहीं पर निस्तारण होने लगा है। उन्होंने बताया कि इसके लिए जिला स्तर पर जिला कलक्टर और राज्य स्तर पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समितियां बनाई गई है। उन्होंने बताया कि जिला स्तर समितियां भी अधिकार संपन्न है। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में नए औद्योगिक निवेश, विद्यमान उद्योगों के विस्तारीकरण और रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए उनके स्तर पर औद्योगिक प्रतिष्ठानों से सीधा संवाद कायम किए जाने से प्रदेश में औद्योगिक निवेश के प्रस्ताव आने लगे हैं। उन्होंने बताया कि कंपनियों ने प्रदेश में औद्योगिक निवेश में रुचि दिखाई है और जल्दी ही इसके सकारात्मक परिणाम धरातल पर आने लगेंगे। रीको के प्रबंध संचालक आशुतोष पेडऩेकर ने रीको योअनाओं व भावी कार्ययोजनाओंं की विस्तार से जानकारी दी। आयुक्त उद्योग मुक्तानंद अग्रवाल ने बताया किविभाग द्वारा जिला उद्योग केन्द्रों को फेसिलिटेशन केन्द्र के रुप में विकसित किया जा रहा है ताकि जिला स्तर पर औद्योगिक विकास को गति दी जा सके। बैठक में विशिष्ठ सहायक बचनेश अग्रवाल, रीको के एडवाइजर इन्फ्रा पुखराज सेन, एडवाइजर एडमिन राजेन्द्र प्रसाद शर्मा, संयुक्त निदेशक उद्योग एसएस शाह और श्री पीआर शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *