शिक्षा मंत्री ने ली विशेष समीक्षा बैठक: विभागीय घोषणाओं की त्वरति पालना के दिए निर्देश

 

जयपुर। शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बजट सत्र के अंर्तगत मुख्यमंत्री स्तर पर एवं स्वयं के स्तर पर की गयी विभागीय घोषणाओं की पालना त्वरित किए जाने के र्निदेश दिए हैं। उन्होंने राज्य के 167 ब्लॉकों खुलने वाले अंग्रेजी माध्यम के महात्मा गांधी विद्यालयों, राजकीय विद्यालयों के मूल्यांकन, कृषि विषय के स्थान पर विद्यालयों में कृषि संकाय खोले जाने से संबंधित र्निणयों पर त्वरित र्काय करने के अधिकारियों को र्निदेश दिए। उन्होंने स्पष्ट कहा कि राज्य सरकार शिक्षा की गुण्वत्ता के साथ ही समुचित प्रसार के लिए कृतसंकल्प है। उन्होंने प्रदेश में शिक्षा के विकास के लिए की गयी घोषणाओं की अक्षरश पालना त्वरित किए जाने पर जोर दिया है। डोटासरा ने इस संबंध में मंगलवार को आयोजित विशेष बैठक में कहा कि यह वर्ष शैक्षिक गुणवत्ता को सर्मपित है। इसके लिए भी अधिकारी निंरतर प्रयास करें। उन्होंने राजकीय विद्यालयों के भवनों के सुदृढ़ीकरण, र्निमाण एवं मरम्मत के कार्योंं को भी प्राथमिकता में रखते हुए जल्द से जल्द करवाए जाने के र्निदेश दिए। उन्होंने शिक्षक दिवस पर सम्मानित किए जाने वाले शिक्षकों की संख्या में वृद्धि के साथ ही इस संबंध में निर्धारित मानदंड तय करने और तत्संबधित र्कायावाही भी आगामी एक सप्ताह में किए जाने के र्निदेश दिए। उन्होंने शाला दर्पण को निरंतर अपडेट रखे जाने तथा विभागीय कार्यों की प्रगति के बारे में भी इसमें जानकारियां समयबद्ध डाले जाने की हिदायत अधिकारियेां को दी। शिक्षा मंत्री ने विभागीय हितकारी निधि से प्राप्त अंशदान से वभिागीय र्कामकिों के पुत्र पुत्रियों के लिए शिक्षा प्रोत्साहन योजना की चर्चा करते हुए कहा कि इससे अधिकाधिक शक्षिकों के बच्चों को लाभान्वति किया जाए। उन्होंने कहा कि शक्षिक हमारे लिए बेहद सम्मानीय हैं, उनके हितों का संरक्षण राज्य सरकार की पहली प्राथमकिता है। उन्होंने स्वामी विवेकानंद मॉडल स्कूल के अंर्तगत प्रवेश लेन वाले बच्चों को शिथिलिता प्रदान करने के भी निर्देश दिए। ताकि जितनी सीटें हैं, उन पर शतप्रतशित प्रवेश सु?िनश्चित किया जा सके। डोटासरा ने कहा कि प्रदेश में विद्र्याथियों के नामांकन वृद्धि के साथ ही उसी अनुपात में पे? लगाने और उनके संरक्षण की भी जानकारी शाला र्दपण पर लिए जाने और इसकी नियमित मोनिटरिंग किए जाने के र्निदेश दिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभागीय घोषणाओं को कैसे व्यावहारिक स्तर पर लागू किया जाए, सभी इसके लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य करें। बैठक में शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री आर.वेंकटेश्वरन, समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक श्री एन.के.गुप्ता, प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय के निदेशक श्री ओ.पी.कसेरा सहित ब?ी संख्या में अधिकारी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *