कमलनाथ सरकार ने एक साल का लेखा जोखा पेश कर जारी किया विजन डाक्यूमेंट

 

नई दिल्ली, 16 दिसम्बर (एजेंसी)। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को एक साल हो गया है। एक साल पहले 17 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पद और गोपनीयता की शपथ ली थी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ लेने के बाद पहली फाइल किसान कर्जमाफी को लेकर ही साइन की थी। कमलनाथ सरकार के एक साल पूरा होने पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह ने भोपाल में मंगलवार को कमलनाथ सरकार का विजय डाक्यूमेंट विजन टू डिलेवरी रोड मैप 2020-2025 जारी किया। इस मौके पर मिंटो हॉल में आयोजित कार्यक्रम में सरकार के एक साल के विकास कार्यों को लेकर एक फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। विजन डॉक्यूमेंट के आधार पर भी एक फिल्म दिखाई गई, जिसमें अगले चार साल में कमलनाथ सरकार के विजन के बारे में बताया गया। इस मौके पर अपने भाषण में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- हमारी विजन की सरकार है, टेलीविजन की नहीं। हम घोषणा नहीं करेंगे। हमें अपने नागरिकों का सटिर्फिकेट चाहिए। हमें खाली खजाना मिला था। हमने 365 दिन में पूरे वायदे किए हैं। हमने एक साल की कार्य योजना बनाई है। हम माफिया मुक्त प्रदेश बनाएंगे, जिससे विकास के हर बिंदु को छुआ जा सके। ये प्रदेश के हर व्यक्ति, किसान और महिला का सपना भी है। कमलनाथ सरकार ने जारी अपने विजन टू डिलेवरी रोड मैप 2020-25 में मुख्य बिंदुओं को लिया है जिस पर चार साल के दौरान सरकार काम करेगी। विजन टू डिलेवरी रोड मैप 2020-2025 में अगले पांच साल में 10 लाख नए रोजगार के अवसर पैदा करने की बात कही गई है। 3.50 लाख जॉब मैन्युफैक्चरिंग तो 1.50 लाख सर्विस सेक्टर से रोजगार सृजित किए जाएंगे। इसके अलावा पांच लाख नौकरियां पर्यटन क्षेत्र से दी जाएंगी। इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद इस रोडमैप की मॉनिटरिंग करेंगे। रोडमैप में समस्त नागरिक सेवाओं को कहीं भी और किसी भी समय के तर्ज पर किसी भी स्मार्ट फोन डिवाइस के माध्यम से नागरिकों तक पहुंचाई जाएगी। साथ ही प्रदेश के हर गांव को सड़क, बिजली और ब्रॉडबैंड इनटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही गई है। इस मौके पर भोपाल गैस त्रासदी पीडि़तों के लिए जीवन भर संघर्ष करने वाले स्व. अब्दुल जब्बार को मरणोपरांत मध्य प्रदेश सरकार का इंदिरा गांधी समाज सेवा पुरस्कार दिया गया। उनकी पत्नी श्रीमती शायरा बानो को पुरस्कार राशि और स्मृति चिह्न भेंट किया गया। जब्बार 33 वर्षों तक गैस पीडि़तों के हक की लड़ाई लड़ते रहे। एक माह पहले अब्दुल जब्बार का निधन हो गया था। सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा रायस्तरीय इंदिरा गांधी समाज सेवा पुरस्कार दिया जाता है। यह पुरस्कार प्रदेश की महिलाओं और बचों के कल्याण एवं विकास तथा सामाजिक कुरीतियों के उन्मूलन और नशाबंदी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले स्वैछिक कार्यकर्ताओं को उनकी वैयक्तिक सेवा और योगदान को प्रोत्साहित करने तथा मान्यता देने के उद्देश्य से प्रदान किया जाता है। कमलनाथ सरकार के विजय डाक्यूमेंट में मध्य प्रदेश के विश्लेषण में प्रदेश की शक्तियों, कमजोरियों, अवसरों का आंकलन किया गया है। इसके बाद दस्तावेज़ बनाने के लिए अपनाये गये सिद्धांतों का उल्लेख किया गया है। रोडमैप के निर्माण में अपनाई गई क्रिया जैसे पृष्ठभूमि, विकास की रूप-रेखा, चहुँमुखी एजेंडा और प्रमुख क्षेत्रों और मुख्य विषयों की पहचान, प्रत्येक क्षेत्र की आकांक्षाएँ तथा आकांक्षाओं का प्राथमिकता निर्धारण इत्यादि है। सेक्टोरल प्राथमिकताएँ तय करने एवं दस्तावेज को बनाने में हितधारकों से बातचीत, विभागों से बातचीत तथा डेस्क अनुसंधान को विकसित करने के लिये अपनाये गये तरीकों का उल्लेख है। दस्तावेज़ के मुख्य अंग-पृष्ठभूमि, दृष्टि, मिशन और लक्ष्य, निगरानी योजना और प्रमुख प्रदर्शन संकेतक एवं सूचकांक हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *