भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना पूरी तरह मुमकिन

नई दिल्ली। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है और इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए सभी हितधारकों (पक्षों) को मिलकर काम करने की जरूरत है। फिक्की के एक बयान के मुताबिक, गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस सप्ताह कर उपायों की घोषणा करके उच्च आर्थिक वृद्धि दर हासिल करने की भारत की प्रतिबद्धता को दर्शाया है। इन उपायों से भारत की प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा और भारत उन देशों की कतार में खड़ा हो सकेगा जो निवेश आकर्षित करने के लिए प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।केंद्रीय मंत्री ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लक्ष्य भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना है। यदि सभी हितधारक साथ मिलकर काम करें तो इस लक्ष्य को पाना पूरी तरह से मुमकिन है।गोयल ने शनिवार को दुबई में वर्ल्ड- एक्सपो 2020 के इंडिया पैवेलियन डिजाइन का अनावरण किया। उन्होंने उम्मीद जताई है कि आने वाले समय में भारत में कर की दरें और कम होंगी। उन्होंने कहा, हम सभी को मिलकर इस दिशा में काम करना होगा कि निवेश आकर्षित करने के लिए भारत को बेहतर ढंग से कैसे दुनिया के समक्ष दिखाया जाना चाहिये। गोयल ने कहा कि अगले साल अक्टूबर में शुरू हो रहा वर्ल्ड एक्सपो -2020 इस उद्देश्य को हासिल करने के लिए बड़ा अवसर है। गोयल ने कहा कि यह देश के लिए सभी देशों से जुडऩे और अवसर हासिल करने का समय है , जो कि भारत के महाशक्ति बनाने का मार्ग प्रशस्त करेगा।
केंद्रीय मंत्री ने संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय समुदाय के उत्कृष्ट कार्यों के लिए उनका धन्यवाद किया, जिससे दोनों देश के बीच मजबूत संबंध विकसित हुए। इस अवसर पर यूएई में भारतीय राजदूत नवदीप सूरी ने कहा कि व्यापार और निवेश संबंधों को आगे बढ़ाने में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री की बेहतर नेतृत्व के लिये सराहना की और कहा कि एक्सपो 2020 में फिक्की के शामिल होने से आयोजन को लेकर उद्योग जगत में उत्साह बढ़ेगा।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *