नाफेड ने गुरुग्राम में खोला पहला किराना स्टोर, ज्यादातर कर्मचारी, महिलाएं या दिव्यांग होंगे

नई दिल्ली। सहकारी कृषि संस्था, नाफेड ने बृहस्पतिवार को गुरुग्राम में अपना पहला किराना स्टोर नाफेड बाजार खोला और कहा कि चालू वित्तवर्ष के अंत तक फ्रेंचाइजी मॉडल के तहत ऐसे 200 और स्टोर खोलने की योजना है। तिरुपति कोऑपरेटिव के सहयोग से खुले इस स्टोर का उद्घाटन नाफेड के अध्यक्ष बिजेंद्र सिंह ने कृषक भारती लिमिटेड (कृभको) के अध्यक्ष, चन्द्रपाल सिंह के साथ किया। सिक्किम सरकार के निवेश विभाग में आयुक्त, मृणालिनी श्रीवास्तव, भी इस अवसर पर उपस्थित थीं। नाफेड के पास 20 से अधिक किराना स्टोर का नेटवर्क है और गुरुग्राम, हरियाणा में तिरुपति सहकारी समिति के सहयोग से यह पहला स्टोर है। नाफेड के अध्यक्ष बिजेंदर सिंह ने एक बयान में कहा, नाफेड की योजना इस वित्तीय वर्ष के अंत तक देश के विभिन्न हिस्सों में नेफेड बाजार नाम से फ्रेंचाइजी मॉडल के तहत करीब 200 और स्टोर खोलने की है। उन्होंने कहा कि नाफेड शुरू में दिल्ली और आस-पास के शहरों में ध्यान केंद्रित करेगा, जहां इसकी पहले से ही एक विकसित आपूर्ति श्रृंखला है, और बाद में अन्य शहरों का रुख किया जाएगा। नेफेड का लक्ष्य अंतत: पूरे देश में विस्तार करना है। उन्होंने कहा कि स्टोर का उद्देश्य किसानों की आय में वृद्धि करना और कृषि उपज को सीधे खुदरा बिक्री के लिए खरीदना है। नाफेड के दिल्ली में दस और शिमला में दो खुदरा बिक्रीकेन्द्र हैं। यह अस्पतालों, होटलों और सरकारी विभागों को किराना उत्पादों की संस्थागत बिक्री में भी शामिल है। तिरुपति सहकारी समिति की अध्यक्ष शिल्पी अरोड़ा ने कहा कि गुरुग्राम में किराने की दुकान उत्तराखंड में महिला सहकारी समिति की एक पहल है। इस स्टोर में नियुक्त किए जाने वाले ज्यादातर कर्मचारी, महिलाएं या दिव्यांग होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *