उत्पादों के आयात के लिए बनेंगे नए पैमाने, खराब क्वालिटी प्रोडक्ट पर लगेगी पाबंदी

नई दिल्ली । देश में उत्पाद आयात किए जाने के मामले में सरकार ने नई सूची तैयार की है। जानकारी के मुताबिक करीब 150 उत्पादों के मानक दुरुस्त करने पर काम हो रहा है। वाणिज्य मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक स्टील, ग्लास, रबर फार्मा, फर्नीचर, टेक्सटाइल और खाद के क्षेत्र से जुड़े उत्पादों की सूची तैयार कर ली गई है। जल्द ही इनके आयात से जुड़े मानक बदले जाएंगे ताकि विदेशों से घटिया माल देश में न आ सके।हिन्दुस्तान को जानकारी मिली है कि अब ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स की तरफ से इन उत्पादों के लिए नए मानक बना रहा है जिसे जल्द जारी किया जाएगा। उसी हिसाब से जांच के बाद ही विदेशों से उत्पाद भारत आ सकेंगे। इस कदम के बाद केंद्र सरकार की तरफ से करीब 375 ऐसे उत्पाद हो चुके हैं जिनके आयात के लिए मानक बदले जाने हैं। यह देश में होने वाले कुल आयात एक चौथाई माना जा रहा है।केंद्र सरकार की तरफ से पिछले साल दिसंबर में ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्डस को चरणबद्ध तरीके से करीब साढ़े चार हजार उत्पादों के लिए पैमाने दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। शुरुआती चरण मे सरकार उन्हीं उत्पादों पर इसे लागू कर रही है जिनका हिस्सा आयात में ज्यादा है साथ ही देश में इनके उत्पादन की क्षमता भी पर्याप्त मात्रा में मौजूद है।
उपभोक्ता- घरेलू कंपनियां दोनों को नुकसान
सरकार की कोशिश है कि चीन और दूसरे देशों की तरफ से घटिया क्वालिटी के उत्पाद भारत में न आए। ऐसे उत्पादों के आने से पर्यावरण को नुकसान तो होता ही है इन्हें खरीदने वाले ग्राहक भी ठगे जाते हैं। यही नहीं खराब क्वालिटी के चलते उत्पाद सस्ता होता जिससे भारतीय मैन्युफैक्चरर्स का सामान नहीं बिक पाता है।
इन उत्पादों पर लागू हैं मानक
प्रधानमंत्री की तरफ से वोकल फॉल लोकल के ऐलान के बाद से घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने की दिशा में इसे अहम कदम के तौर पर देखा जा रहा है। केंद्र सरकार पहले ही करीब 50 उत्पादों पर नए मानक लागू कर चुकी है। इनमें से खिलौने, इलेक्ट्रॉमिक उत्पाद, एयर कंडिशनर्स, साइकिल के पुर्जे, केमिकल, प्रेशर कुकर और इलेक्ट्रनिक केबल का आयात उसी के मुताबिक किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *