प्रदेश में कोविड वैक्सीन की 11.5 लाख डोज बर्बाद होने की खबर झूठी, भाजपा कोरोना वॉरियर्स का मनोबल तोडऩे का काम कर रही: सीएम गहलोत

जयपुर (कासं.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कोविड वैक्सीन की बर्बाद होने की खबर को लेकर बीजेपी (क्चछ्वक्क) पर जमकर निशाना साधा है। कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीन की 11.5 लाख डोज़ बर्बाद होने की खबर झूठी है। भाजपा ऐसे झूठे आरोप लगाकर 14 महीने से मेहनत कर रहे हमारे कोरोना वॉरियर्स का मनोबल तोडऩे का काम कर रही है जो निंदनीय है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीन की 11।5 लाख डोज़ बर्बाद होने की खबर झूठी है। भाजपा ऐसे झूठे आरोप लगाकर 14 महीने से मेहनत कर रहे हमारे कोरोना वॉरियर्स का मनोबल तोडऩे का काम कर रही है जो निंदनीय है। मैं विपक्ष के नेताओं से अपील करूंगा कि महामारी के समय ऐसी नकारात्मक राजनीति ना करें। उन्होंने ट्वीटर पर जानकारी साझा करते हुए बताया कि कोविन सॉफ्टवेयर पर दर्ज आंकड़ों के मुताबिक 26 मई तक प्रदेश में 1,63,67,230 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इनमें से 3।38 लाख डोज खराब हुई है। यह सिर्फ 2त्न है जो वैक्सीन खराबी की राष्ट्रीय औसत 6त्न एवं भारत सरकार द्वारा वैक्सीन खराबी की अनुमत सीमा 10त्न से बेहद कम है। गहलोत ने बताया कि वैक्सीन की ट्रेकिंग के लिे सॉफ्टवेटर कोविन पर वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत में तकनीकी दिक्कतों के कारण कई वैक्सीनेशन केंद्रों पर 2।95 लाख डोज की एंट्री दो बार हो गई। इस कारण कोविन सॉफ्टवेयर पर कुल वैक्सीन की संख्या 1,70,01,220 दर्ज बता दी गई। यह आंकड़ा सही नहीं है। राजस्थान में 3.38 लाख डोज की खराब हुई है। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि पूर्व भारत सरकार के कोविन सॉफ्टवेयर में लाभार्थी का ना केंद्र सरकार द्वारा स्वत: दर्ज होने के कारण उनके अनुउपस्थित होने पर किसी अन्य लाभार्थी को वैक्सीन नहीं लग पाती थी। 10 के गुणांक में लोग वैक्सीन लगवाने नहीं आते तो अन्य लाभार्थी की ऑफलाइन एंट्री नहीं हो सकती थी जिससे वैक्सीन खराब होती थी। इसी कारण हमने पत्र लिखकर केंद्र सरकार से ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की मांग की जिससे वैक्सीन खराब ना हो। इससे आगे भी उन्होंने कई जानकारियां साझा की।
वहीं विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि महामारी के समय भाजपा द्वारा की जा रही राजनीति को पूरा देश देख रहा है। गलत नीतियों के कारण ये वैक्सीन उपलब्ध करवाने में नाकाम रहे हैं जिसका ठीकरा ये राज्यों पर फोडऩा चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मैं राजस्थान के तमाम विपक्ष के नेताओं से अपील करूंगा कि तमाम तरह के विवाद पैदा करने की बजाय वो प्रदेश के हित को ध्यान में रखकर केंद्र पर दबाव बनाए जिससे राजस्थान को अधिक वैक्सीन मिल सकें। साथ ही, केंद्र सरकार पर निशुल्क यूनिवर्शल वैक्शीनेशन के लिए दबाव बनाएं। राजस्थान वैक्सीनेशन में देशभर में अव्वल है और आगे भी सर्वश्रेष्ठ कार्य करता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *