नीता अंबानी ने पहली बार रिलायंस एजीएम को संबोधित कर कहा- लोगों की सेवा ही धर्म

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी की पत्नी व रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अंबानी ने पहली बार रिलायंस एजीएम को संबोधित किया। इस मौके पर नीता ने शेयर धारकों को रिलायंस फाउंडेशन द्वारा कोरोना संकट में किए जा रहे सामाजिक कार्यों की जानकारी दी। नीता अंबानी ने बताया कि मिशन अन्न सेवा के जरिये देश भर में 5 करोड़ से ज्यादा गरीबों, मजदूरों और फ्रंटलाइन वर्करों के लिए भोजन उपलब्ध कराया गया।नीता अंबानी ने बताया कि कोरोना संक्रमण शुरू होते ही पीपीई किट का बड़ा संकट पैदा हो गया था। इसके लिए रिकॉर्ड वक्त में ऐसी मैनुफैक्चरिंग फैसिलिटी बनाई गई, जिससे हर दिन 1 लाख पीपीई किट और एन 95 मास्क बनाए जा सकें।  उन्होंने बताया कि रिलायंस इमर्जेंसी सर्विस में लगी गाडिय़ों के लिए देश भर में मुफ्त ईंधन उपलब्ध करा रहा है। नीता अंबानी ने बताया कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने रिलायंस फाउंडेशन, रिलायंस रिटेल, जियो, रिलायंस लाइफ साइंसेज, रिलायंस इंडस्ट्रीज और रिलायंस फैमिली के सभी 6 लाख सदस्यों की कंबाइंड स्ट्रेंथ के आधार पर COVID-19 के खिलाफ एक एक्शन प्लान तैयार किया है। इस प्लान में कंपनी की हर सब्सिडियरी की भूमिका को तय किया गया है. आरआईएल ने कोविड—19 मरीजों के लिए एक डेडिकेटेड हॉस्पिटल तैयार किया है।कोरोना वायरस की मौजूदा? स्थिति से निपटने में मदद के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज ने ?100 बेड का एक हॉस्पिटल सेटअप किया है। भारत का यह पहला कोरोना मरीजों के लिए डेडिकेटेड हॉस्प्टिल है, जिसकी पूरी फंडिंग रिलायंस फाउंडेशन ने की है। इन सभी बेड पर जरूरी इन्फ्रास्ट्रक्चर, डायलिसिस मशीन, वेंटीलेटर्स, पेसमेकर,और मॉनिटरिंग मशीन जैसे सभी इक्विपमेंट लगाया गया है। कंपनी ने इस अस्पताल को 2 सप्ताह में बीएमसी के साथ मिलकर मुंबई में स्थापित किया। इस सेंटर में एक निगेटिव प्रेशर रूम भी है, जो क्रॉस कंटेमिनेशन को रोकने और इन्फेक्शन नियंत्रित करने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *