एनटीपीसी ने किये जल विद्युत परियोजनाओं के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

 

नई दिल्ली, 26 सितंबर(एजेन्सी)। भारत की सबसे बड़ी बिजली उत्पादक कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड ने हिमाचल प्रदेश सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए, जिसके तहत राज्य में 520 मेगावॉट की कुल दो जल विद्युत परियोजनाओं की स्थापना की जाएगी। इस सहमति पत्र पर हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव (ऊर्जा) प्रबोध सक्सेना और एनटीपीसी लिमिटेड के डायरेक्टर (कॉमर्शियल) ए के गुप्ता ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी और अन्य अधिकारी तथा राज्य सरकार द्वारा शिमला में आयोजित पावर कॉन्क्लेव के गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे। सेली और मियार जल विद्युत परियोजनाएं लाहौल और स्पीति जिले में चिनाब बेसिन में स्थित हैं। सेली जल विद्युत परियोजना (400 मेगावॉट) तालाब योजना के साथ एक रन ऑफ रिवर प्रोजेक्ट है, जबकि मियार जल विद्युत परियोजना (120 मेगावॉट) चिनाब नदी की मियार सहायक नदी पर, बिना तालाब योजना के रन ऑफ रिवर प्रोजेक्ट है। कोल्डम हाइड्रो पावर स्टेशन के साथ एनटीपीसी की हिमाचल प्रदेश में मौजूदगी है। यह एनटीपीसी का पहला हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट है, जिसमें 800 मेगावॉट की स्थापित क्षमता है। जुलाई 2015 से पावर स्टेशन व्यावसायिक रूप से चालू है और हिमाचल प्रदेश राज्य को 28 प्रतिशत बिजली प्रदान करता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *