गांवों में खुलेंगे एक लाख एलपीजी वितरण केंद्र उपभोक्ताओं को मिलेगी सहूलियत

नई दिल्ली। सरकार की ई-सेवा डिलिवरी इकाई सीएससी एसपीवी ने गुरुवार को कहा कि उसकी देश भर में मार्च 2022 तक एक लाख एलपीजी वितरण केंद्र स्थापित करने की योजना है। इसमें ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी इलाकों पर जोर होगा। सीएससी एसपीवी (साझा सेवा केंद्र विशेष उद्देश्यीय इकाई) ने कहा कि उसने तीन सरकारी तेल कंपनियों बीपीसीएल, एचपीसीएल और आईओसी… के साथ मिलकर विभिन्न राज्यों में करीब 21,000 एलपीजी केंद्र खोले हैं।सीएससीसी एसपीवी के प्रबंध निदेशक दिनेश त्यागी ने एक बयान में कहा, बीपीसीएल के साथ मिलकर आज हमारे एलपीजी वितरण केंद्रों की संख्या 10,000 पहुंच गयी, जो हमारे लिये महत्वपूर्ण उपलब्धि है। इसके अलावा हम एचपीसीएल के साथ मिलकर 6,000 और आईओसी के साथ 5,000 एलपीजी वितरण केंद्र चला रहे हैं। उन्होंने कहा, चालू वित्त वर्ष के अंत तक हमारे एलपीजी वितरण केंद्रों की संख्या एक लाख पहुंच जाएगी। सीएससी ने ये एलपीजी वितरण केंद्र सभी राज्यों में खोले हैं। पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, बिहार और राजस्थान में इन केंद्रों की संख्या सर्वाधिक है। त्यागी ने कहा, हमारा जोर ग्रामीण क्षेत्रों पर है जहां लोग अभी भी खाना पकाने के लिये लकड़ी और दूसरे प्रदूषण फैलाने वाले ईंधन पर निर्भर हैं। सीएससी अपने डिजिटल सेवा पोर्टल के माध्यम से लाभार्थियों को एलपीजी सिलेंडर उनके घर तक पहुंचाने में मदद करेगा। सीएससी एसपीवी के सीईओ संजय कुमार राकेश ने कहा कि हम जो एलपीजी सेंटर का प्रबंधन कर रहे हैं। उसका मकसद गरीब परिवार को स्वच्छ ईंधन उपलब्ध कराना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *