ओरिएंट इलेक्ट्रिक पंखों के कारोबार में वृद्धि के लिए छोटे शहरों और गांवों में कर रही है विस्तार

नई दिल्ली, 16 दिसम्बर (एजेन्सी)। ओरिएंट इलेक्ट्रिक लिमिटेड जोकि 2.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर के विविधिकृत सीके बिरला ग्रुप के एक अंग हैए ने टियर-3 एवं टियर-4 बाज़ारों और गांवों से आ रही प्रबल मांग को ध्यान में रखते हुए अपने पंखों की रेंज का विस्तार किया है। कंपनी ने दो नए पंखे समर ब्रीज़ प्रो और रैपिड एयर पेश किए हैं और आने वाले महीनों मे कंपनी अपने मौजूदा पंखे ट्विस्टर में नए बदलाव लाने, बेसिक रेंज में विस्तार करने और इकोनोमी एवं डेकोरेटिव सेगमेन्ट को सशक्त बनाने की योजना बना रही है। कंपनी ने यह लॉन्च ग्रामीण स्तर पर बढ़ती डिमांड का लाभ उठाते हुए अगले 12 महीनों में पंखों के बाज़ार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के इरादे से किया है। अतुल जैन, एक्ज़क्टिव वाईस प्रेज़ीडेन्ट, ओरिएंट इलेक्ट्रिक लिमिटेड ने कहा, ”सरकार द्वारा अनुकूल वित्तीय घोषणाओं, प्रवासी मजदूरों के गाँव लौटने और बेहतर मानसून के चलते छोटे शहरों और गांवों में मांग बढ़ रही है। बढ़ती खरीद क्षमता के साथ भारत का ग्रामीण उपभोक्ता अधिक महत्वाकांक्षी हो रहा है और ब्राण्डेड एवं उच्च गुणवत्ता के उत्पाद खरीदना चाहता है। ग्रामीण भारत में तेज़ी से बढ़ते इन अवसरों का लाभ उठाने और सतत प्रतिस्पर्धी लाभ हासिल करने के लिए हम अपने वितरण नेटवर्क का विस्तार करने के लिए काम कर रहे हैं तथा टियर-3, टियर-4 शहरों और ग्रामीण बाज़ारों में ज़्यादातर रीटेल काउंटरों पर अपने पंखे उपलब्ध कराने का प्रयास कर रहे हैं। आने वाले समय में भी हम आधुनिक तकनीकों और बेहतरीन डिज़ाइनों से युक्त नए पंखे बाज़ार में उतारते रहेंगे जो ग्रामीण भारतीय उपभोक्ताओं की महत्वाकांक्षाओं पर खरे उतर सकें। नए मॉडल्स समरब्रीज़ प्रो और रैपिड एयर, हाई-स्पीड और पैसा वसूल पंखे हैं जो मजबूत एवं टिकाउ मोटर, शानदार पेंट फिनिश, स्टाइलिश डिज़ाइन के साथ आते हैं। ये पंखे उपभेाक्ताओं की पसंद और ज़रूरत के मुताबिक, कई स्वीप आकारों और रंगों में उपलब्ध हैं।ओरिएंट इलेक्ट्रिक का संगठित वितरण नेटवर्क 1,25,000 रीटेल आउटलेट्स तक पहुंचता है और इसका मजबूत सर्विस नेटवर्क 450 से अधिक शहरों को कवर करता है। वर्तमान में कंपनी का संगठित पंखों के बाज़ार में तकरीबन 20 फीसदी मार्केट शेयर है और यह अपने फरीदाबाद एवं कोलकाता स्थित मैनुफैक्चरिंग प्लांट्स में सालाना 10 मिलियन युनिट्स का निर्माण करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *