विधानसभा अध्यक्ष के निर्णय के विरूद्व पत्रकार राज्यपाल से मिले

विधानसभा अध्यक्ष के निर्णय के विरूद्व पत्रकार राज्यपाल से मिले !!

जयपुर, 1 जुलाई (कासं.)। राजस्थान विधानसभा बजट सत्र के लिए विधान सभा अध्यक्ष सी.पी. जोशी द्वारा पत्रकारों के लिए नई व्यवस्था के विरोध में सोमवार को इण्डियन फैडरेशन स्माल एण्ड मिडियम न्यूज पेपर्स राजस्थान ईकाई व राजस्थान प्रैस क्लब ने राज्यपाल को ज्ञापन सांैपा। फैडरेशन ने विधान सभा अध्यक्ष के द्वारा पत्रकारों पर अंकुश लगाने को अलोकतांत्रिक बताया। ज्ञापन में कहा गया कि आज तक कभी भी किसी पत्रकार द्वारा विधानसभा की मर्यादा को नहीं लांघा गया इसके बावजूद पत्रकारों पर लगाई गई पाबंदी गैर जरूरी एवं उनके कार्य में बाधा पहुंचाना है। फैडरेशन ने अपने ज्ञापन में लघु एवं मध्यम समाचार-पत्र जो डीआईपीआर से विज्ञापन प्रकाशित करने हेतु मान्यता प्राप्त नहीं को प्रवेश पत्र जारी न किया जाना अनैतिक अन्याययिक है।  राज्यपाल ने दिनांक 26 जून को समाचार पत्रों के विभिन्न संगठनों के द्वारा प्रैस क्लब से सिविल लाईन तक पैदल विरोध मार्च पर भी चर्चा की। उन्होंने पूछा कि पूर्व में इस तरह के कोई आदेश हुए हैं, जिस पर प्रतिनिधि मण्डल ने स्पष्ट मना किया कि पूर्व में कभी भी ऐसा नहीं हुआ। प्रतिनिधि मण्डल ने राज्यपाल को प्रवेश पत्र पर लगाई मोहर दिखाकर पत्रकारों के समक्ष आ रही समस्याओं के संबंध में भी चर्चा की। प्रतिनिधि मण्डल में जसविन्द्र सिंह बल प्रदेश संयोजक, इण्डियन फैडरेशन ऑफ स्माल एण्ड मिडियम न्यूज पेपर्स एवं प्रधान संपादक दैनिक भोर, श्रीमती मंजू सुराना, संपादक मारवाड़ समाचार एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आई.एफ.एस.एम.एन., श्री अब्दुल सतार सिलावट, अध्यक्ष राजस्थान प्रैस क्लब एवं प्रधान संपादक महका राजस्थान, राजकुमार गुप्ता संपादक दैनिक निराली विजय एवं महेन्द्र कुमार शर्मा संपादक दैनिक महाबली मिडिया। शामिल थे। राज्यपाल ने प्रधिनिधि मण्डल की बात अत्यन्त गंभीरता से सुनी, चर्चा की व इसे दिखवाने के लिए आश्वस्त किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *