एसबीआई के विदेशी मुद्रा बांड को दी गई रेटिंग मूडीज ने वापस ली

मुंबई : अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) के 10 अरब डॉलर के वैश्विक मध्यम अवधि के नोट कार्यक्रम के तहत अल्पकालीन विदेशी मुद्रा कार्यक्रम को दी गयी रेटिंग स्वेच्छा से वापस ले ली। यह कदम ऐसे समय उठाया गया है, जब बैंक ने कथित रूप से मानक निर्गम (50 करोड़ डॉलर से ऊपर) के साथ डॉलर बांड बाजार में कदम रखा है। बांड बिक्री के बारे में पुष्टि को लेकर बैंक के चेयरमैन से जानकारी मांगी गयी, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया। इसी तरह, रेटिंग वापसी को लेकर भी आधिकारिक प्रतिक्रिया फिलहाल नहीं मिल पायी है।मूडीज ने कहा कि बैंक और उसकी शाखाओं की अन्य रेटिंग पहले की तरह बरकरार है और इस कदम का उस पर कोई असर नहीं हुआ है। दस अरब डॉलर के विदेशी मुद्रा बांड की रेटिंग स्वेच्छा से वापस लिये जाने के बारे में मूडीज ने कहा, उसने अपने कारोबारी कारणों से साख को वापस लेने का फैसला किया है। इसका मतलब है कि एजेंसी की तरफ से साख वापसी स्वैच्छिक है क्योंकि वह केवल आग्रह पर ही रेटिंग प्रदान करती है। मूडीज ने कहा कि रेटिंग वापसी उन निर्गमों (बांड) पर की गई है, जिसे एसबीआई ने दुबई इंटरनेशनल फाइनेंस सेंटर, हांगकांग, लंदन और नसाऊ, फ्लोरिडा (अमेरिका) में एक काउंटी से जारी किए हैं। एजेंसी ने बांड के आकार, मूल्य और परिपक्वता तारीख और कीमत आदि के बारे में कुछ नहीं बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *