सबदवाणी के मानकीकरण के लिए संगोष्ठी

श्रीगंगानगर में जुटे बिश्नोई समुदाय के प्रतिनिधि

श्रीगंगानगर, 15 जुलाई (कासं)। बिश्नोई समुदाय के गुरु जम्भेश्वर की जम्भोवाणी पर आधारित सबदवाणी के मानकीकरण के लिए देशभर में संगोष्ठियां आयोजित की जा रही हैं, जिनमें समुदाय के प्रबुद्धजन इस कार्य को सम्पादित करने में लगे हुए हैं। इसी कड़ी में शहर में संगोष्ठी आयोजित की गई, जिसमें बिश्रोई समुदाय के अनेक महानुभाव शामिल हुए। श्रीगंगानगर में बिश्नोई सभा श्री गुरु जम्भवाणी जन जागृति मंच एवं बिश्नोई महासभा के सयुंक्त तत्वाधान में आयोजित दो दिवसीय सबदवाणी संगोष्ठी में देश के विभिन्न क्षेत्रों से पहुंचे समाज के सबदवाणी के जानकार व मौजिज व्यक्तियों ने श्रीगुरु जम्भवाणी जन जागृति मंच द्वारा तैयार की गई सबदवाणी पर व्याख्या, चर्चा करते हुए सुझाव दिए। सबदवाणी के मानकीकरण पर एकराय जताते हुए कहा कि यह कार्य जल्द से जल्द होना चाहिए। वक्ताओं ने श्रीगुरु जम्भवाणी जन जागृति मंच द्वारा गांव-गांव जाकर की जा रही नि:शुल्क सबदवाणी संगोष्ठियों की प्रशंसा की। उन्होंने आह्वान किया कि इस प्रकार की संगोष्ठियां विभिन्न क्षेत्रों में की जाएं। सामाजिक कुरीतियों, पाखण्डों, अंधविश्वास व देखा-देखी किए जाने वाले धार्मिक कर्मकांडों से बचा जाये। सबदवाणी पर चलकर उत्तम जीवन जीने का प्रयास करना होगा । श्रीगुरु जाम्भो जी की सबदवाणी के अधिकाधिक प्रचार-प्रसार, पर्यावरण, जीवों के संरक्षण व सवंर्धन हेतु ठोस प्रयास करने पर बल दिया। यह सबदवाणी संगोष्ठी बहुत ही सहज सादा तरीके से सम्पन्न हुई। उपस्थितजनों द्वारा बरसात के इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करने का संकल्प लिया गया। संगोष्ठी में हरियाणा के फतेहाबाद से कृष्ण ज्याणी, मंगाली से संग्राम बिश्नोई, हरिद्वार से ओंकार सिंह, कांठ (यूपी) से राजकुमार, नागपुर (महाराष्ट्र) से चेतन खिलेरी, जालौर से रिटायर्ड एडीएम चूनाराम मांझू , श्रीगंगानगर बिश्रोई महासभा के अध्यक्ष सुभाष कड़वासरा, जनजागृति मंच के संयोजक हंसराज थोरी, संतोष कुमार, पूर्ण तरड़, रामगोपाल तरड़, वॉइस ऑफ एनीमल्स के रामकृष्ण खीचड़ इत्यादि उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *