मुंबई इंडियंस के कंसलटेंट किरण मोरे, वानखेड़े के 2 स्टाफ मेंबर समेत 3 और पॉजिटिव; इसी स्टेडियम में 4 टीमों के 10 मैच होने हैं

आईपीएल पर कोरोना का साया

मुंबई (एजेंसी)। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का आगाज 9 अप्रैल से होना है। इससे पहले ही टूर्नामेंट पर कोरोना का साया मंडराने लगा है। मुंबई इंडियंस टीम के विकेटकीपिंग कंसलटेंट किरण मोरे, वानखेड़े स्टेडियम के 2 ग्राउंड स्टाफ और एक प्लंबर संक्रमित पाए गए हैं। इससे पहले भी स्टेडियम के 10 स्टाफ मेंबर और 6 इवेंट मैनेजर की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। अब तक आईपीएल में 3 खिलाड़ी समेत 24 लोग पॉजिटिव हो चुके हैं। पूर्व भारतीय विकेटकीपर किरण मोरे में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए हैं। फिलहाल उन्हें आइसोलेशन में रखा गया है। उधर, न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि वानखेड़े स्टेडियम के सभी स्टाफ मेंबर्स को स्टेडियम के पास ही एक क्लब हाउस में ठहराया गया है। इनको ट्रैवल करने और स्टेडियम एरिया से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। अब तक आईपीएल में 3 खिलाड़ी कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज नीतीश राणा, दिल्ली कैपिटल्स के ऑलराउंडर अक्षर पटेल और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ओपनर देवदत्त पडिक्कल संक्रमित हो चुके हैं। इनमें राणा और पडिक्कल की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अक्षर की रिपोर्ट अभी सामने नहीं आई है। सीएसके की कंटेंट टीम का एक सदस्य भी संक्रमित पाया गया था। लीग स्टेज के 56 में से चेन्नई, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु में 10-10 मैच खेले जाएंगे। दिल्ली और अहमदाबाद में 8-8 मैच होंगे। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में सभी मैच 10 से 25 अप्रैल के बीच होंगे। पहला मैच दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 10 अप्रैल को खेला जाएगा। प्ले-ऑफ और फाइनल अहमदाबाद में होंगे। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र में 9 अप्रैल को शाम 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक हर वीकेंड पर लॉकडाउन रहेगा। हालांकि ऐसे में आईपीएल के दौरान मुंबई में मैच होने पर भी टीम को कोई समस्या नहीं होगी, क्योंकि राज्य सरकार ने आईपीएल को मंजूरी दे दी है। मैच के दौरान स्टेडियम में दर्शक नहीं रहेंगे। टीम को रात 8 बजे के बाद भी प्रैक्टिस और होटल तक आने-जाने की इजाजत दी गई है। सूत्रों की मानें तो मुंबई में कोरोना के मामले बढ़े तो सभी मैचों को शिफ्ट किया जा सकता है। इसके लिए इंदौर और हैदराबाद को स्टैंडबाय के तौर पर रखा गया है। वहीं, बीसीसआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बीसीसीआई ने सुरक्षा के सभी इंतजाम पहले से ही कर रखे हैं। यही कारण है कि सिर्फ 6 वेन्यू चुने गए, जहां बायो-बबल तैयार किया गया। शुक्ला ने बिना किसी परेशानी के टूर्नामेंट सफलता पूर्वक होने की उम्मीद जताई है। बीसीसीआई उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा कि लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों से निपटने का सिर्फ एक ही तरीका यह वैक्सीन है। बीसीसीआई भी यही मानती है कि खिलाडयि़ों को वैक्सीन लगवानी चाहिए। कोई नहीं जानता कि कोरोना वायरस कब खत्म होगा और न ही कोई इस वायरस के खत्म होने की तारीख बता सकता है। शुक्ला से जब पूछा गया कि खिलाडयि़ों को वैक्सीन लगवाने के लिए बोर्ड ने स्वास्थ्य मंत्रालय को लिखित आवेदन दिया है क्या? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि बीसीसीआईने सुझाव दिया है और अपनी बात रखी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *