केवल जय हिंद कहना या वंदे मातरम गाना ही राष्ट्रवाद नहीं : वेंकैया नायडू

 

हैदराबाद (एजेंसी)। सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर याद करते हुए उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने राष्ट्रवाद की परिभाषा बताई। उप-राष्ट्रपति ने कहा कि राष्ट्रवाद का मतलब केवल जय हिंद कहना, वंदे मातरम या जन-गण-मन गाना ही नहीं है। वेंकैया ने हैदराबाद के एमसीआर-एचआरडी संस्थान में यह बातें कहीं।
उन्होंने कहा कि जय हिंद का मतलब है हर भारतीय की जय हो। यह तब संभव है, जब सभी की जरूरतों का ख्याल रखा जाए। उन्हें ठीक से खाना और कपड़ा मिले। किसी को भी भेदभाव का सामना न करना पड़े। एक राष्ट्र का मतलब केवल भौगोलिक सीमाएं नहीं है। जो भी उस राष्ट्र में है, उसका कल्याण ही राष्ट्रवाद है।
हैदराबाद में बोस जयंती पर इस कार्यक्रम के अलावा वेंकैया ने सोशल मीडिया पर भी उन्हें याद किया। वेंकैया ने लिखा कि एक व्यक्ति किसी विचार के लिए अपनी जान दे सकता है, लेकिन वह विचार उस व्यक्ति की मृत्यु के बाद हजारों जिंदगियों में जीवित हो उठता है। उनका चमत्कारिक व्यक्तित्व युद्धबंदियों को स्वतंत्रता सेनानियों में तब्दील कर सकता था। दूरदर्शी नेता और आदर्श लीडर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर मेरी श्रद्धांजलि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *