फर्जी परीक्षार्थियों से दिलवा रहे थे एसएससी की परीक्षा गिरोह के सरगना सहित तीन सदस्य गिरफ्तार

जयपुर, 24 नम्वबर (एजेन्सी)। एसओजी ने कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित मल्टी टास्किंग नॉन टेक्निकल स्टाफ परीक्षा (एमटीएस) में नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस एटीएस एवं एसओजी अनिल पालीवाल ने बताया कि एसओजी को मुखबिर से सूचना मिली कि एसएससी द्वारा आयोजित मल्टी टास्किंग नॉन टेक्निकल स्टाफ प्रारंभिक परीक्षा में एक गिरोह असली छात्रों के स्थान पर फर्जी छात्रों को बैठाकर परीक्षा दिलवा रहा है। सूचना पर एसओजी की एक टीम ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय द्वारकापुरी शास्त्री नगर जयपुर से गिरोह के मुख्य सरगना थाना मंडावर, दौसा निवासी जसवंत कुमार पुत्र जगदीश प्रसाद (27) व अन्य सदस्य थाना नदबई जिला भरतपुर निवासी देशराज पुत्र रामलाल (20) एवं दिखनादा मोहल्ला, फ्रांस भूखरडी चूरु निवासी गिरधारी सिंह पुत्र रघुवीर सिंह राजपूत (27) को गिरफ्तार किया है। पालीवाल ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में गिरोह के मुख्य सरगना जसवंत सिंह ने बताया कि वह पिछले काफी समय से एसएससी की विभिन्न भर्ती परीक्षाओं में फर्जी परीक्षार्थियों को बैठाकर परीक्षा दिलवा रहा है। इसके लिए वह प्रति परीक्षार्थी से 2 से 5 लाख वसूल कर रहा है। फर्जी परीक्षार्थियों हेतु बिहार के विद्यार्थियों से संपर्क कर 50 हजार से 2 लाख तक देकर फर्जी परीक्षार्थी के तौर पर परीक्षा दिलवाने का कार्य कर रहा था। इससे पूर्व भी वह एसएससी व जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में फर्जी परीक्षार्थियों के जरिए परीक्षा दिलवा चुका है। एसएससी की वर्तमान प्रारंभिक परीक्षा में बिहारी विद्यार्थियों से परीक्षा दिलवाई गई थी जिनसे पैसों का विवाद हो जाने के कारण आज मुख्य परीक्षा में स्वयं व अपने साथी देशराज गुर्जर जो पूर्व में ही कांस्टेबल जीडी परीक्षा में सफल हो चुका है से दिलवाया जाना बताया है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों से अन्य परीक्षाओं में किए गए फर्जीवाड़े व उनके अंतर्राज्यीय नेटवर्क के बारे में गहनता से पूछताछ की जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *