वंदे भारत मिशन के तहत 30 जुलाई तक 9 उड़ानों से आएंगे प्रवासी राजस्थानी

16 हजार से अधिक प्रवासी राजस्थानी पहुंचे

जयपुर, 19 जुलाई (का.सं.)। वंदे भारत मिशन के तहत 30 जुलाई तक विदेशों से 9 उड़ानों से प्रवासी राजस्थानी जयपुर आएंगे। वहीं 23 जुलाई तक चार चार्टर फ्लाइट्स की अनुमति भी दी गई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि रविवार से 30 जुलाई तक 9 फ्लाइटों में कुवैत, शारजाह और बिश्केक से दो-दो और अबूधाबी, दुबई और मस्कट से एक-एक फ्लाइट वंदे भारत मिशन के तहत जयपुर आएगी। उन्होंने बताया कि 18 जुलाई तक जयपुर में 106 उड़ानों से 16 हजार से अधिक प्रवासी राजस्थानी जयपुर आ गए हैं। 19 जुलाई को पांच फ्लाइट जयपुर एयरपोर्ट पर पहुंची। विदेशों में फंसे प्रवासी राजस्थानियों को लेकर जयपुर एयरपोर्ट पर रविवार को पांच फ्लाइट उतरी। इनमें दो उड़ाने किर्गिस्तान से, एक अबूधावी, एक आरकेटी और एक आरयूएस से जयपुर पहुंची। इनमें करीब 790 प्रवासी राजस्थानी जयपुर आए हैं। एसीएस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि विदेशो से प्रवासी राजस्थानियों की पहली फ्लाइट 22 मई को लंदन से 149 प्रवासी राजस्थानियों को लेकर आई थी। उन्होंने बताया कि 22 मई से वंदे भारत मिशन की उड़ानों के साथ ही चार्टर फ्लाइटों से भी प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचने का सिलसिला जारी हैं। जयपुर एयरपोर्ट पर हैल्थ प्रोटोकोल के अनुसार सभी व्यवस्थाएं चाकचोबंद कर रखी है और फ्लाइट के आने के समय अधिकारियों की टीम वहां आवश्यक व्यवस्थाओं में जुटी रहती है। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि रविवार को जयपुर एयरपोर्ट पर पांच फ्लाइटों से प्रवासी राजस्थानी जयपुर पहुंचे। उन्होंने बताया कि प्रवासी राजस्थानियों के संस्थागत क्वारंटाइन के लिए जयपुर के साथ ही जयपुर व उदयपुर संभाग के जिलों व नागौर और चुरु में भी क्वारंटाइन की व्यवस्था की जा रही है। इन संभागों के जिलों के प्रवासी राजस्थानियों को संस्थागत क्वारंटाइन के लिए राजस्थान रोड़वेज की बसों से संबंधित जिलों में भिजवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट पर उड़ानों के आने के समय संयुक्त निदेशक मेडिकल डॉ. एसके भण्डारी, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. निर्मल जैन, डॉ. धनेश्वर शर्मा और इनकी पूरी मेडिकल टीम द्वारा थर्मल स्केनिंग से लेकर मेडिकल चेक अप तक की सेवाएं दे रही है। जयपुर एयरपोर्ट पर क्वारंटाइन अधिकारी बीसी गंगवाल, उपनिदेशक पर्यटन उपेन्द्र सिंह शेखावत और इनकी टीम व रीको डीजीएम तरुण जैन आदि द्वारा संस्थागत क्वांरटाइन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं। जेडीए, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन के अधिकारी एयरपोर्ट में व्यवस्थाओं को देख रहे हैं। निदेशक सिविल एविएशन कैप्टन केसरी सिंह ने बताया कि एयरपोर्ट पर आवष्यक व्यवस्थाएं चाकचोबंद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *