प्रदेश के सभी रोडवेज बस स्टेण्डों, परिवहन कार्यालयों में बनेंगी प्याऊ, आधारभूत सुविधाएं होंगी सुनिश्चित-खाचरियावास

जयपुर, 12 जून (कासं.)। परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने जयपुर आरटीओ कार्यालय सहित प्रदेश के सभी आरटीओ कार्यालयों, जिला परिवहन कार्यालयों, रोडवेज बस स्टेण्डों, लाइसेंस कार्यालयों समेत परिवहन विभाग के समस्त कार्यालयों में प्राथमिकता से शुद्ध, शीतल पेयजल, शौचालय, छाया की माकूल व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैंं। उन्होंने कहा है कि परिवहन विभाग सीधा जनता से जुड़ा विभाग है, इसलिए अपने कार्यों के लिए यहां आने वाले लोगों गुणवत्तायुक्त आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराना विभाग का दायित्व है। खाचरियावास ने बुधवार को झालाना संस्थानिक क्षेत्र स्थित क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में परिवहन अधिकारियों की समीक्षा बैठक में कहा कि वे स्वयं समय-समय पर हर संभाग के परिवहन कार्यालयों का दौरा करेंगे एवं समीक्षा के दौरान इन सुविधाओं का भी जायजा लेंगे। परिवहन मंत्री ने जयपुर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के अन्तर्गत आने वाले सभी डीटीओ से कहा कि विभाग को मिले रेवेन्यू लक्ष्य समय पर पूरे किए जाने चाहिए, लेकिन बसों एवं सवारी वाहनों पर विभागीय कार्यवाही से किसी आमजन को असुविधा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने निजी फाइनेंसर्स द्वारा वाहनों की किस्त नहीं चुकाने पर बाड़े में बंद वाहनों के मामले में हर माह चैकिंग करने के निर्देश दिए। खाचरियावास ने बजरी का अवैध परिवहन करने वाले वाहनों के खिलाफ भी सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इस पर अधिकारियों द्वारा उन्हें बताया कि गया कि ओवरलोड बजरी परिवहन के मामले में एक माह में अब तक 70 वाहन सीज किए गए हैंं। उन्होंने बालवाहिनियों मेें स्कूली बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चत करने के लिए सभी विद्यालयों में नियमित रूप से बालवाहनियों के रूप में उपयोग किए जा रहे वाहनों की फिटनेस जांच के भी निर्देश दिए। परिवहन मंत्री ने बांसावाड़ा, डूगरपुर, उदयपुर जैसे आदिवासी बहुल क्षेत्रों में सवारी जीपों के ओवरलोड चलने से होने वाली दुघटनाएं और मानव जीवन की क्षति रोकने के लिए ग्रामीण बस सेवा प्रारम्भ करने की दिशा में प्रयास तेज करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। इस पर परिवहन आयुक्त एवं शासन सचिव राजेश यादव ने बताया कि इन क्षेत्रों में वीजीएफ के आधार पर ग्रामीण बस सेवा के संचालन पर विचार किया जा रहा है। जिला परिवहन अधिकारियों ने परिवहन मंत्री को सीजिंग यार्ड का अभाव, फ्लाइंग में गार्ड्स की कम संख्या, ई-चालान डिवाइस में आ रही परेशानियों, सॉफ्टवेयर में चालान कम्पाउण्ड कराने का अधिकार नहीं होना जैसी समस्याओं से अवगत कराया। खाचरियावास ने समीक्षा बैठक में प्रवर्तन, वृक्षारोपण, राजस्व लक्ष्य की प्रगति, बकाया टेक्स वसूली जैसे विभिन्न विषयों में आरटीओ कार्यालय जयपुर के काम-काज की समीक्षा की। परिवहन मंत्री ने बुधवार को झालाना परिवहन कार्यालय में अपने लाइसेंस का नवीनीकरण भी कराया। उन्होंने आरटीओ कार्यालय झालाना में पंछियों के लिए परिण्डा बांधा और जल भरा। उन्होंने यहां प्याऊ बनाने के लिए भी अधिकारियों को निर्देशित किया एवं फीता काटकर चार बैंच को लोक समर्पित किया। समीक्षा बैठक में अपर परिवहन आयुक्त कर, आर.सी.यादव, अपर परिवहन आयुक्त प्रशासन महेंद्र खींची, वरिष्ठ आर.ए.एस राजेश कुमार सिंह, संयुक्त परिवहन आयुक्त धर्मेन्द्र कुमार एवं आरटीओ झालाना राजेन्द्र कुमार वर्मा, कई डीटीओ एवं अन्य अन्य अधिकारी शामिल हुए। कार्यवाही अवैध बसों पर, नियमानुसार चलने वालों को डर नहीं सिंधी कैम्प एवं अन्य बस स्टेण्ड्स पर प्राइवेट बसों के मामले में मीडिया से बात करते हुए परिवहन मंत्री ने कहा कि ज्यादातर समस्या लोक परिवहन सेवा की बसों के कारण आ रही जिन्होंने कोर्ट से भी आदेश ले रखे हैं। परिवहन मंत्री ने यह साफ किया कि ऐसे प्राइवेट बस संचालक जो नियमानुसार विभाग को टैक्स देकर बसें चला रहे हैं एवं जनता को सेवा दे रहे हैं, उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। अवैध रूप से चल रही बसों के खिलाफ कार्यवाही जरूर की जाएगी। दूसरी ओर रोडवेज की हालत ठीक करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इसीलिए नई बसों की खरीद भी की जा रही है। इसके अलावा रोडवेज में सीएनजी एवं इलेक्ट्रिक बसों के लिए भी विचार किया जा रहा है। ऑटोमैटिक ड्राइविंग टे्रक योजना में खामी, होगी समीक्षा परिवहन मंत्री ने कहा है कि जगतपुरा सहित राज्य में करीब 1 दर्जन स्थानों पर ऑटोमेटिक ड्राइविंग टे्रक की योजना में खामी है। इन टे्रक के निर्माण पर सरकारी धन का व्यय भी किया गया है। इसके बावजूद एक कम्पनी को हर लाइसेंस पर 300 रुपए अधिक वसूली का अधिकार दे दिया गया है। सरकार किसी निजी कम्पनी के पोषण का माध्यम नहीं बन सकती। उसकी जिम्मेदार आम व्यक्ति के हित के प्रति है। इसलिए सम्पूर्ण योजना की समीक्षा की जा रही हैै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *