ज्ञानी जैलसिंह अंंडरब्रिज से रास्ता खुलवाने की मांग

 

श्रीगंगानगर, 21 जून (का.सं.)। श्रीगंगानगर-अबोहर रेल सैक्शन पर हिन्दुमलकोट थाना क्षेत्र में वर्षांे से बंद पड़े रेलवे फाटक, जिसे ज्ञानी जैलसिंह फाटक के नाम से जाना जाता था, वहां रेलवे द्वारा बनाये गये अंडरब्रिज के पास से खेतों को जाने वाले मार्ग को खुलवाने की ग्रामीणों ने मांग की है। ग्राम पंचायत हिन्दुमलकोट की सरपंच अनुप्रिया की अगुवाई में आज ग्रामीणों का एक शिष्टमण्डल जिला कलक्टर से मिला। शिष्टमण्डल में शामिल महेन्द्र झोरड़, गुरमीत सिंह, बलविन्द्र सिंह, परमजीत कौर, ओमेन्द्र बवेजा, गुरदीप सिंह, जसदीप, रामलाल, भगवान कौर आदि अनेक जनों ने बताया कि रेलवे क्रॉसिंग संख्या सी-71 और सी-72 जो पूर्व में चल रहे थे, उन्हें अम्बाला रेलमण्डल में एक वर्ष पूर्व बंद कर दिया। इन फाटकों के बंद होने के कारण रेलवे लाइन के आसपास के चकों-तीन व पांच सी के काश्तकारों को अस्थाई रूप से जाने-आने के लिए कोई मंजूरशुदा रास्ता नहीं है। काश्तकारों को क्रॉसिंग संख्या सी-71, सी-72 के अलावा कोई रास्ता नहीं है। इस कारण किसानों को भारी असुविधा हो रही है। उन्होंने मांग की है कि इन दोनों रेलवे क्रॉसिंग पर अंडरब्रिज या ओवरब्रिज का निर्माण करवाया जाये। जब तक अंडरब्रिज या ओवरब्रिज का निर्माण नहीं होता, तब तक सी-71 और सी-72 को चालू रखा जाये। उन्होंने मांग की है कि इन रेलवे क्रॉसिंग को तत्काल खुलवाया जाये। उगेखनीय है कि अम्बाला डिवीजन के अधिकारियों ने यहां पर चार फाटकों को बंद करवाकर एक फाटक, जो हमेशा बंद रहता था, वहां पर अंडरब्रिज बनवाया था। इसी अंडरब्रिज के पास से चक 3 सी व 5 सी आने-जाने के लिए किसानों को रास्ता भी दिया था। पहले जो फाटक हमेशा बंद रहता था, उसे ज्ञानी जैलसिंह फाटक के नाम से जाना जाता है, क्योंकि यह फाटक वर्षांे पहले पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैलसिंह इस क्षेत्र में अपने रिश्तेदारों से मिलने आये थे, तब एक दिन के लिए रेलवे ने इसे खोला था। अब यहां पर अंडरब्रिज बना दिया गया है, लेकिन इसके साथ किसानों को खेतों में आने-जाने के लिए छोड़े गये रास्ते को गार्डर लगाकर दो दिन पूर्व बंद कर दिया गया। गार्डर लग जाने से किसान चौपहिया वाहन अपने खेतों तक नहीं ले जा पा रहे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *