एक्सपोर्ट बढ़ाने की रणनीति पर काम शुरू

नई दिल्ली। केंद्र सरकार को पूरा भरोसा है कि आने वाले महीनों में बजट में की गई घोषणाओं के चलते हालात बदलेंगे और भारत में बने उत्पादों का वैश्विक बाजारों में कारोबार बढ़ेगा। साथ ही कस्टम ड्यूटी को लेकर जो बदलाव हुए हैं उससे देश में कच्चे माल की उपलब्धता बढ़ेगी।वाणिज्य सचिव डॉ अनूप वधावन ने कहा कि बजट में उठाए गए कदमों से देश की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता बढ़ेगी। यही नहीं देश की तकनीकी क्षमता बढ़ेगी जो एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने में मददगार साबित होगी। उनके मुताबिक कारोबारी सुगमता को बढ़ाने वाले कदमों से निवेश को बढ़ाने वाला माहौल बनेगा। उनके मुताबिक मेगा इन्वेस्टमेंट टेक्सटाइल पार्क के चलते देश में विश्वस्तरीय इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार होगा और इकोनॉमी को भी सहारा मिलेगा। 7 टेक्सटाइल पार्क 3 साल में बनाए जाएंगे।अनूप वधावन ने बताया कि सरकार ने कृषि क्षेत्र में व्यापक सुधार करते हुए फूड प्रॉसेसिंग उद्योग के लिए ऑपरेशन ग्रीन स्कीम शुरू की है। ये अब तक आलू प्याज और टमाटर तक ही सीमित थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 22 और आइटम्स के लिए शुरू किया जाएगा। इसके जरिए कृषि और हॉटिकल्चर उत्पादों के इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने में मदद मिलेगी।साथ ही प्लांटेशन क्षेत्र के लिए 1000 करोड़ रुपए के बजट आवंटन के जरिए चाय बगानों में काम करने वालों खास तौर पर महिलाओं और उनके बच्चों के लिए कल्याणकारी योजनाओं को शुरू करने में मदद मिलेगा। इससे 10.75 लाख मजदूरों को मदद मिलेगी। इसमें 6.23 लाख महिला कामगारों को भी मदद मिलेगी।देश में कारोबारी गतिविधियां सुधारने और सरकारी योजनाओं का उन्हें पूरा फायदा देने के मकसद से वाणिज्य मंत्रालय उद्योग मंथन का आयोजन कर रहा है। इसके तहत फार्मा और इलेक्ट्रॉनिक्स सहित लगभग 45 क्षेत्रों के लिए वेब गोष्ठी की श्रृंखला का आयोजन किया जा रहा है। सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक अगले कुछ हफ्तों के दौरान उद्योग मंथन में फार्मा, चिकित्सा उपकरण, क्लोज सर्किट कैमरा, इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिजाइन और विनिर्माण, नवीकरणीय ऊर्जा, रोबोटिक्स, एयरोस्पेस और रक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों को शामिल किया जाएगा, जो आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। पिछले चार हफ्तों के दौरान, खिलौने, चमड़ा, फर्नीचर और ड्रोन सहित विभिन्न क्षेत्रों पर 18 वेब गोष्ठी आयोजित की गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *