भुगतान रोक कर अफसरों ने खेला सियासी दांव

 

जिला परिषद की आखिरी बैठक में भाजपा के प्रधान बोले

उदयपुर, 18 दिसम्बर (का.सं.)। जिला परिषद की आखिरी साधारण सभा में भाजपा के प्रधान व जिला परिषद सदस्यों ने अफसरों पर आरोप लगाए कि वे पंचायती राज चुनावों से पहले सियासी दांव खेल रहे हैं। गिर्वा प्रधान तख्तसिंह ने कहा कि चुनाव के दो माह पहले से विकास कार्यों का भुगतान रोक दिया गया। इससे पंचायतों को राशि नहीं मिली; ऐसे में लोगों में नारजगी बढती जा रही है। इस पर सीओ कमर चौधरी ने कहा कि दो महीने नहीं तीन सप्ताह का पैमेंट रुका था जो अभी जारी कर दिया गया है। इस पर विकास अधिकारी ने भी कहा कि उन्होंने पैमेंट की फाइल निकाल दी है, अब किसी का पैसा बाकी नहीं है, लेकिन प्रधान कहते रहे हैं कि ऐसा सियासी साजिश के तहत किया गया है। भाजपा ग्रामीण विधायक फूल सिंह मीणा ने कहा कि आहड़ गांव के एक स्कूल में निरीक्षण के दौरान मैंने पांचवीं कक्षा की एक बच्ची से रीडिंग करवाई तो वो भैरूलाल नाम तक नहीं पढ़ सकी। इसके लिए कौन जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। दिसंबर तक भी स्कूलों में पांचवीं तक की पुस्तकें नहीं आई। इस पर जिला कलेक्टर आनंदी ने जांच करवाने की बात कहीं। साधारण सभा बुलाने का मकसद पंचायतों से आए सड़कों के प्रस्तावों को मंजूरी देना था। ज्यादातर जनप्रतिनिधियों ने सड़क, बिजली से संबंधित मुद्धे ही उठाए।
सीओ को मीडियाकर्मियों से परहेज : जिला परिषद सीओ कमर चौधरी को मीडियाकर्मियों से परहेज है। जिला परिषद से संबंधित सभी बैठकों में उन्होंने मीडियाकर्मियों के आने पर रोक लगा दी है। जबकि विधानसभा लोकसभा की कार्रवाई का लाइव कवरेज होता है, उनके इस रवैये से जनप्रतिनिधि भी नाराज हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *